Breaking News

विवादों में घिरी जेबीएम कंपनी को सफाई के नाम पर पार्षद बांट रहे है सर्टिफिकेट

वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)
जिस जेबीएम कंपनी के क्रियाकलापों पर पिछले डेढ़ साल से सवाल उठते रहे, उसी को शहर के पार्षद सफाई पर सर्टिफिकेट बांट रहे हैं..हालांकि, अब इस पर शहर की राजनीति गर्मा गई है..वार्ड तीन की भाजपा पार्षद अंजलि शर्मा ने यू-टर्न लेते हुए इसे कंपनी का झांसा करार दिया है।..पार्षद ने साफ किया कि कंपनी ने सफाई का वादा करके उनसे विश्वास-पत्र पर साइन कराए थे…वहीं, उनके पिता पूर्व पार्षद हरीश शर्मा ने भी कंपनी को कठघरे में खड़ा कर दिया है..उन्होंने कहा कि जेबीएम डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन में फेल साबित हो रही है और अपनी साख बचाने के लिए ऐसे हथकंडे अपना रही है…अंजलि शर्मा के सामने आने के बाद अब अन्य पार्षद भी कंपनी के खिलाफ मोर्चा खोल सकते हैं…


गौरतलब है कि मेयर अवनीत कौर ने गत दिनों प्रधान सचिव को पत्र लिखकर कूड़ा उठान में लगी जेबीएम कंपनी पर शर्त पूरी न करने पर कम से कम 40 लाख रुपये का जुर्माना लगाने और काम में सुधार न हो पाने की स्थिति में टेंडर रद करने की मांग की थी…
प्रधान सचिव ने शिकायत की वास्तविकता जानने के लिए नगर निगम कार्यालय में पड़ताल कराने को भेजा था। निगम अधिकारियों ने जांच करने की बजाय जेबीएम कंपनी को कार्रवाई से बचने का मौका देने के साथ रास्ता भी दे दिया। माना जा रही है कि कंपनी अब अपनी साख बचाने के लिए ही पार्षदों से विश्वास पत्र ले रही है..
वार्ड-3 की पार्षद अंजलि शर्मा ने कहा कि वार्ड में गंदगी फैलने और कूड़े का उठान न होने की समस्या को कई बार अधिकारियों के सामने उठा चुकी हूं.. जेबीएम कंपनी ने गत दिनों उनके हस्ताक्षर विश्वास पत्र पर कराए थे। कंपनी अधिकारियों ने सफाई में सुधार करने का भरोसा दिया था। कंपनी अधिकारियों की सच्चाई अब समझ आई है..अंजली शर्मा का कहना है कि वो सदन में अपनी बात रखेंगी…


पूर्व पार्षद एवं पार्षद अंजलि शर्मा के पिता हरीश शर्मा ने कहा कि जेबीएम कंपनी डोर-टू-डोर कूड़ा उठान में फेल है। वार्ड में ही पर्याप्त संसाधान नहीं हैं। यहां कूड़ा उठान ठीक से होना तो दूर झाडू तक नहीं लगाई जा रही। कंपनी ही नहीं निगम अधिकारी भी इसमें फेल हैं।

DJLIYMX AFCXMX..·Fì´FZÔýi dÀFÔW

पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पार्षदों ने जेबीएम कंपनी के कार्य पर खुद असंतोष जताया था..वो अब खुद विश्वास पत्र कंपनी को दे रहे हैं..कुछ लोग चुनावी माहौल में सबको उलझाना चाह रहे हैं..उन्होंने दावा किया कि मैं जेबीएम कंपनी के कार्य में सुधार कराकर ही दम लूंगा..
TEAM VOICE OF PANIPAT

leave a reply