वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा):- हरियाणा में अप्रैल महीने में ही तापमान दिन ही नहीं बल्कि रात में भी तेजी से बदल रहा है। वहीं मौसम विभाग ने भी पहले ही इस बार अधिक गर्मी पड़ने का पूर्वानुमान जताया है। मगर मौसम विज्ञानियों की मानें तो आने वाले दो दिनों में राहत मिल सकती है। तेज हवाओं औऱ हल्की बूंदाबांदी से तापमान कुछ नीचे गिर सकता है।

बता दें कि हरियाणा, पंजाब समेत उत्तर प्रदेश, राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के चलते हल्की बारिश, अंधड़ की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के अलावा कई राज्यों में शाम के वक्त मौसम खराब होगा और कई जगहों पर आंधी के साथ हल्की बारिश की संभावना है। प्रदेश के सिरसा, हिसार, फतेहाबाद, भिवानी जिलों में 6 अप्रैल की रात से 7 अप्रैल के सुबह के बीच तेज़ धूलभरी आंधी की संभावना बन रही है। आंधी के बाद एक दो इलाको में हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार है।

वहीं 7 अप्रैल को पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल जिलों में एक दो जगह हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। उपर्युक्त स्थानों में कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि हो सकती है, हवा की रफ्तार 40-70 किलोमीटर प्रति घंटा तक दर्ज की जा सकती है

मौसम विभाग ने अगले दो दिनों के दौरान उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में लू  की चेतावनी दी है। विभाग ने हाल ही में बताया था कि मार्च महीने में पश्चिम मध्य प्रदेश, विदर्भ, राजस्थान, पूर्वी उत्तर प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, सौराष्ट्र और कच्छ, पूर्वी मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली सहित देश के कई हिस्सों में मार्च में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया था।

आईएमडी के अनुसार 9 और 10 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में बहुत भारी बारिश, गरज, बिजली और आंधी (30-40 किलोमीटर प्रति घंटे) के आसार हैं। 10 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश में भी भारी वर्षा होने की संभावना है। विभाग ने कहा था कि अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश और राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में लू की आशंका है और अगले दो दिनों के दौरान मध्य प्रदेश और पूर्वी विदर्भ क्षेत्र में गर्मी की लहर बढ़ने की उम्मीद है।

Share: