वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

नकली सीआइए पुलिसकर्मी बताकर 16 दिन में दो लोगों से लूटपाट करने वाले दो बदमाशों को सीआइए-वन ने गिरफ्तार किया। आरोपितों की पहचान बिल्लू कॉलोनी के सोनू और बेरी वाली मस्जिद के मोसीन के रूप में हुई। सोमवार शाम को दोनों आरोपित लूट की वारदात की फिराक में अंसल सुशांत सिटी के गेट नंबर-3 के पास घूम रहे थे। इसी दौरान धरे गए।

सीआइए-वन प्रभारी राजपाल सिंह ने दोनों आरोपितों को पुलिस ने अदालत में पेश कर एक दिन की रिमांड पर लिया है। रिमांड के दौरान आरोपितों से लूटी गई नकदी, मोबाइल फोन और अन्य लूट की वारदातों के बारे में पूछताछ की जाएगी। लूट की कई अन्य वारदातों की गुत्थी सुलझ सकती है। दोनों बदमाशों ने शॉर्टकट में रुपये कमाने के लिए वारदात की। उन्होंने लूट की राशि शराब पीने में खर्च कर दी। 

1 मई को देर शाम नूरवाला की जसबीर कॉलोनी का ओमप्रकाश नूरवाला अड्डे पर गैस सिलेंडर भरवाने गया था। वह सिलेंडर दुकान पर रखकर पास में बाथरूम करने करने चला गया। दो बदमाशों ने उससे 1800 रुपये लूट लिए। दोनों बदमाश नशे में थे। सेक्टर 13-17 थाने में मामला दर्ज है।  

16 मई की रात को शीशे की दुकान के मालिक ज्योति कॉलोनी के मोंटू का छोटे भाई गोविंद से फोन को लेकर झगड़ा हो गया था। मोंटू ने शराब पी और आनंद भवन के सामने बाइक रोकर खड़ा हो गया। इसी दौरान बाइक सवार दो बदमाश आए और सीआइए से बताकर  22 हजार रुपये व दो मोबाइल फोन लूट लिए। एक बदमाश ने उसे बाइक पर बैठाया और यमुना एंक्लेव क्रॉस कट के पास पेट्रोल पंप के पीछे सुनसान जगह पर ले गए। बाइक की चाबी झाड़ी में फेंक दी। वहां पर मोंटू के साथ मारपीट की और धक्का देकर भाग गए। 

सीआइए-वन प्रभारी राजपाल सिंह ने बताया कि 2017 में मोसीन ने अपने साथी सद्दाम के साथ मिलकर राजीव कॉलोनी से डेढ़ साल के बच्चे का बाइक से अपहरण कर लिया था। दोनों ने बच्चे को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दंपती को बच्चा बेचना था। इससे पहले मुजफ्फरनगर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में मोसीन 2018 में जमानत पर बाहर आया था। इसी तरह से राजू ने बाइक से सूअर चोरी कर लिए थे, लेकिन उसके खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया था। मोसीन हरिसिंह चौक पर फैक्ट्री में जाता था वहीं पर उसकी दोस्ती सोनू से हो गई।  

Share: