वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

गुरुद्वारे के सेवादार तहसील कैंप, जवाहर नगर के 61 वर्षीय गुरबचन सिंह की उन्हीं के छोटे बेटे 28 वर्षीय इंद्रजीत ने कृपाण से हत्या की थी। मकान और सेठी चौक पर हैंडलूम की दुकान गुरबचन सिंह ने बड़े बेटे गगनदीप के नाम करा दी थी। इंद्रजीत अपना हिस्सा मांग रहा था। गुरबचन ने देने से इन्कार किया तो बेटे ने कत्ल कर दिया। थाना शहर पुलिस ने वारदात के 48 घंटे बाद आरोपित इंद्रजीत को सीसीटीवी कैमरे की फुटेज व मोबाइल की लोकेशन के आधार पर गिरफ्तार कर लिया। इस हत्याकांड में कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रेम सचदेवा सहित पांच लोगों पर केस दर्ज हुआ था। अब सभी ने राहत की सांस ली है।

Share: