वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा) -: कोरोना संकट में एक तरह आमदनी घटी है, दूसरी तरफ पानीपत टोल प्लाजा पर टैक्स बढ़ाया जा रहा है। 17 जुलाई से कार, बस और ट्रक सहित सभी वाहनों पर पांच रुपये से ज्यादा टोल लेना शुरू हो जाएगा। हालांकि मंथली पास बनवाने वाले वाहन चालकों को थोड़ी राहत मिलेगी। टैक्स में इजाफा नहीं किया।

रोजाना पानीपत टोल प्लाजा से लगभग 30 हजार वाहन गुजर रहे हैं। इन वाहनों में कार और गुड्स कैरियर वाहनों की संख्या सबसे अधिक है। पानीपत-करनाल लेन से रविवार दोपहर 2:40 बजे एक मिनट में ग्यारह कार और तीन कॉमर्शियल वाहनों ने टोल प्लाजा क्रॉस किया। दूसरी ओर पानीपत-दिल्ली लेन से जहां सात कार क्रॉस हुई, वहीं दो कॉमर्शियल चालक वाहनों में गंतव्यों की ओर रवाना हुए। पानीपत टोल प्लाजा से औसतन हर घंटे एक हजार से अधिक कारें और 350 से अधिक बस और अन्य कॉमर्शियल वाहन क्रॉस हो रहे हैं।

नए टोल रेट लागू कर एलएंडटी कंपनी अपनी दैनिक कमाई में औसतन 1.50 लाख रुपये की बढ़ोतरी करने वाली है। इस कमाई में शहरवासियों की भी कुछ फीसद हिस्सेदारी रहेगी। टोल भुगतान करने के बावजूद भी शहरवासियों को ओवरब्रिज से कोई फायदा नहीं हो रहा है। अधिकतर लोकल चालक आज भी शहर से बाहर जाने के लिए जीटी रोड का ही इस्तेमाल करते है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: