वायस ऑफ पानीपत (कुलवंत सिंह) -: सात सितंबर 2019 को पानीपत के वार्ड नंबर तीन में चार सड़क बनाने के लिए लगभग दो करोड़ के टेंडर लगाए गए थे। जिसकी फाइलें निगम के कर्मचारियों ने गुम कर दी। फाइलें किसने और कैसे गुम की अफसरों को इस बात का पता नहीं है । वो इन फाइलों को ढ़ूढ़वाने का सिर्फ आश्वासन दे रहे हैं। वहीं पार्षद अंजलि शर्मा फाइल गुम करने वाले कर्मचारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रही है।

बता दें कि पार्षद अंजलि शर्मा ने फाइल ढूंढवाने के लिए निगम आयुक्त को पत्र लिखा है। वार्ड में विकास का काम ठप है। लोगों को परेशानी हो रही है। पार्षद ने बताया कि सीसी रोड बनाने के लिए चार टेंडर लगाए गए थे। टेकचंद हाउस से सरकारी स्कूल तक, हरीश सचदेवा के घर से सतबीर पेंटर के घर तक, सब्जी मंडी से पाहुजा हास्पिटल और आरके पेंटर से वर्मा पेंटर तक सड़कें बननी थी।

पूर्व पार्षद हरीश शर्मा ने बताया कि चार वर्क आर्डर हुए थे। एक साल से सड़क निर्माण का कार्य अटका हुआ है। लगभग दो करोड़ का काम नहीं हो रहा। ये चार फाइलें तो अब संज्ञान में आई हैं। इसके अतिरिक्त अन्य वार्डों की दर्जनों फाइलें भी गुम हैं। टेंडर लगाने के बाद फाइल किसके पास गई। ठेकेदार ले गए या अफसर दबाए बैठे हैं इसका अता पता नहीं चल रहा है। अफसरों का ध्यान पैमाइश और पेमेंट पर है। डिवलपमेंट वर्क से कोई लेना देना नहीं है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: