वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- पानीपत के लघु सचिवालय में आज नगर निगम की हाउस की बैठक हुई…बैठक में एक साल से एग्रो माल में नगर निगम कार्यालय को स्‍थानांतरित करने का वादा किया था…शहर के विधायक प्रमोद विज ने तो मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल को एग्रो माल दिखा भी दिया था…इसके बावजूद अब नया प्रस्‍ताव लाया गया है…लघु सचिवालय के पास दस हजार वर्ग गज में नगर निगम का नया भवन बनाने का प्रस्‍ताव ले आए…इसका पार्षदों ने विरोध कर दिया..और कहा कि एक साल से तो एग्रो माल की बात हो रही थी..अब नया प्रस्‍ताव क्‍यों ले आए…इसकी क्‍या गारंटी है कि नई जगह पर छह महीने में काम हो जाएगा…

दुष्‍यंत भटट ने कहा कि अगर ये प्रस्‍ताव हम पास भी कर दें क्‍या गारंटी है कि जल्‍दी भवन बन जाएगा। क्‍यों न हम एग्रो माल में ज्‍यादा जोर दें, बजाय नई इमारत पर। आप प्रशासनिक प्रयास करें। राजनीतिक तौर पर हमारा सदन काम करेगा। सीएम के संज्ञान में हैं। दोनों ही मामले चला दो। आप इसको पेंडिंग में रख दें। वैसे भी एजेंडे का जो प्रोसस है कि दो तीन दिन पहले पार्षद के पास चला जाए। कल हमें मिला है। हम इस पर क्‍या चर्चा करें। क्‍या माइंड मेकअप करेंगे। तीन चार दिन पहले एजेंडा आ जाए तो उस पर चर्चा हो सकती है।

पार्षद अशोक कटारिया ने कहा, छह महीने निकाल दिए। हमारे लिए इतने शर्म की बात है कि अपनी इमारत के लिए स्‍पेस नहीं है। हमें उधार की जगह पर हाउस की बैठक करनी पड़ रही है। एग्रो माल की बात करते करते डेढ़ साल निकाल दिया। हम तो चाहेंगे कि एग्रो माल में ही निगम कार्यालय बनाया जाए।

लोकेश नांगरू ने कहा कि सीएम के संज्ञान में निगम कार्यालय का मामला है। एजेंडा कुछ दिन पहले दिया करो। तभी चर्चा हो सकती है। इस पर कमिश्‍नर डा मनोज कुमार ने कहा कि इमरजेंसी नोटिस पर बैठक बुलाई है। हमें वर्क आउट करना पड़ता है। आगे से आपको एजेंडा पहले ही सौंप देंगे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: