वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा):- प्रदेश सरकार ने 9 दिनो के भीतर ही मेयर का कद बढ़ाते हुए एक और शक्ति प्रदान की है। अब मेयर को सूचित किए बिना निगम कमिश्नर, ईओ व सचिव छुट्टी पर नहीं जा सकेंगे। हालांकि तीनो अधिकारियो की छुट्टी मंजूर होने की प्रक्रिया पहले के तहत ही रहेगी, लेकिन मुख्यालय से छुट्टी की मंजूरी मिलने के बाद भी मेयर को बताना जरूरी कर दिया गया है। निगम कमिश्नर मनोज कुमार यादव ने कहा कि सरकार से जारी हुआ पत्र संबंधित अधिकारियो को दे दिया है।

प्रदेश सरकार ने नगर निगमों में मेयरों की ताकत बढ़ाने का पहली बार ऐलान 16 दिसंबर को किया था। मेयर की सलाह से निगम आयुक्त की एसीआर लिखने की सलाह लेना शामिल किया गया था। नगर निगम के आयुक्तों की वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट अब मेयरों की सलाह से लिखे जाने के आदेश जारी किए थे।

मेयर अवनीत कौर ने बताया कि अब तक उन्हें पता नहीं होता था कि निगम के 3 बड़े अधिकारी अपने कार्यालय में सीट पर बैठे हैं या नहीं। जरूरी काम होने पर कमिश्नर या अन्य अधिकारियो को फोन मिलवाते तो ही पता चलता कि संबंधित अधिकारी तो छुट्टी पर गए हैं। कितने दिन के लिए छुट्टी पर गए हैं, कब तक आएंगे, इसका पता नहीं नहीं होता था। इससे जनता के कामकाज प्रभावित होते थे। लोगो को कार्यालय में धक्के खाने को मजबूर थे। अब ऐसा नहीं चलेगा। अधिकारी बताकर जाएंगे कि वो छुट्टी पर जा रहे हैं।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: