वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह) :- पानीपत में कोरोना वैक्सीन का इंतजार खत्म हो गया। कुरुक्षेत्र से पानीपत के सिविल अस्पताल में कोवीशील्ड की 6660 डोज पहुंचीं। CMO डॉ. संतलाल वर्मा की मौजूदगी में वैक्सीन को उतारा गया। शनिवार सुबह से सभी पांच सेंटरों पर वैक्सीनेशन शुरू होगा। वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री तापमान में स्टोर किया गया है।  CMO डॉ. संतलाल वर्मा ने राहत के टीकों को रिसीव किया। पहली खेप में पानीपत को कुल 6660 डोज मिली हैं। शनिवार से सिविल अस्पताल समेत पांच सेंटरों पर टीकाकरण होगा। पहले चरण में सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टरों को स्टाफ को टीका लगाया जाएगा। पहले चरण में वैक्सीनेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग के पास 6640 हेल्थ वर्करों की सूची है। वैक्सीनेशन के पहले दिन सभी पांच सेंटरों पर कुल 500 हेल्थ वर्करों का वैक्सीनेशन होगा। यानी प्रत्येक सेंटर पर 100-100 हेल्थ वर्करों को टीका लगाया जाएगा। पहले दिन जिन 500 हेल्थ वर्करों को टीका लगेगा, उनके मोबाइल पर वैक्सीनेशन सेंटर के नाम समेत मैसेज पहुंचेगा।

CMO डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि कोवीशील्ड वैक्सीन को एक निर्धारित तापमान में रखना है। सभी वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री सेल्सियस तापमान में रखा जाएगा। जिसके लिए विभाग को पहले से ही 7 रेफ्रिजरेटर प्राप्त हो चुके हैं।

कोरोना वैक्सीन को लेकर कई तरह की अफवाह फैलाई जा रही है। इसलिए अब आपको मोबाइल पर कोरोना से बचाव के स्थान पर वैक्सीन के सुरक्षित संबंधी कॉलर ट्यून सुनाई देनी शुरू हो गई है। कई राज्यों में CM व बड़े नेताओं द्वारा खुद वैक्सीन लगवाकर लोगों को इसके सुरक्षित होने का प्रमाण दिया जा चुका है। इसी क्रम में पानीपत में CMO ने सबसे पहले वैक्सीन लगवाने का फैसला लिया है। क्योंकि पहले चरण में हेल्थ वर्करों का वैक्सीनेशन होगा। इसलिए अपने वर्करों को वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित करने को CMO डॉ. संतलाल वर्मा वैक्सीनेशन की शुरूआत करेंगे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: