वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- इंद्रा कॉलोनी में 17 जुलाई को हुए मां-बेटी हत्याकांड से पुलिस ने पर्दा उठा दिया। पुलिस ने इस मामले में पड़ोसी युवक सहित 4 आरेापियों को गिरफ्तार कर लिया। पड़ोसी युवक की दोस्त के 900 गज के प्लॉट पर नजर थी। वह सस्ते दाम में खरीदना चाहते थे। दोस्त मां के प्रेमी की हत्या में जेल जा चुका था। इसलिए आरोपी पड़ोसी ने दोस्त की मां और बहन को ठिकाने लगाने की योजना बना ली। अलसुबह सीढ़ी लगाकर घर में घुस गए। सो रही मां-बेटी के गले चाकू से गोद दिया। दो आरोपी घर के बाहर पहरा दे रहे थे। पुलिस ने गुरुवार को आरोपियों को कोर्ट में पेश कर 3 दिन की रिमांड पर ले लिया है।

डीएसपी सतीश वत्स ने बताया कि इंद्रा कॉलोनी की रहने वाली रानी और उसकी बेटी गीता की 17 जुलाई को हत्या कर दी थी। इस मामले की जांच सीआईए- 1 कर रही थी। पुलिस ने इस मामले में रानी के पड़ोसी भीम को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में भीम ने गुनाह कबूल लिया। बताया कि उसने इस वारदात को अपने दाेस्त मोहित, विपिन और सुमित के साथ मिलकर अंजाम दिया था।

डीएसपी ने बताया कि आरोपी भीम ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया। बताया कि दोस्त अंकुश अपनी मां के प्रेमी ईदरीश का घर में रहना पसंद नहीं करता था। उसने ईदरीश के साथ अपनी मां और बहन की हत्या की योजना भी बनाई थी। अंकुश के साथ विपिन भी शामिल था। अंकुश की मां के नाम 900 गज का प्लॉट था। जिसकी कीमत करीब डेढ़ करोड़ रुपए थी। वह प्लॉट अपने नाम करवाना चाहता था।

इसलिए वह मां और बहन की हत्या करना चाहता था। 6 जुलाई की रात को अंकुश ने ईदरीश की गला रेत कर हत्या कर दी। मां और बहन उस दिन बच गई। पुलिस ने दो दिन बाद अंकुश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: