वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- पति सहित 6 लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न और मारपीट का केस दर्ज कराने के बाद की गई कार्रवाई के बारे में पूछने पहुंची महिला, उसकी मां और पिता ने पुलिस के साथ मारपीट कर दी। पुलिस वालाें की वर्दी फाड़ कर हंगामा किया।  

जांच अधिकारी सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने बताया कि दोपहर को वह कम्प्यूटर कक्ष में काम कर रहे थे। तभी वहां नलवा कॉलोनी की रहने वाली प्रियंका,अपनी मां सविता और पिता प्रमोद के साथ वहां आ गई। कक्ष में हेड कांस्टेबल नीरू अपना काम कर रही थीं। केस के बारे में आरोपियों की गिरफ्तारी के बारे में पूछा।

उन्होंने बताया कि उसके ससुर से बात हुई थी। उन्होंने कहा है कि कोरोना की वजह से ट्रेन और बसें बंद हैं। शुरू होते ही थाने में आ जाएंगे। ‌इतना सुनते ही मां-बेटी ने हंगामा कराना शुरू कर दिया। पुलिस पर बिकने का आरोप लगाने लगीं। कांस्टेबल नीरू ने रोकने का प्रयास किया तो मारपीट करने लगीं। सिपाही प्रवीन, कुलदीप अनिल और राजेंद्र आ गए। उनके साथ प्रमोद ने मारपीट करना शुरू कर दिया। मारपीट में नीरू की वर्दी फट गई।

पूरा मामला यह है कि प्रियंका की शादी मई 2018 में बिहार के बांका जिले के घुटिया के रहने वाले कुलदीप हुई थी। आरोप था कि पति शादी के बाद उसे मायके में छोड़ गया था। ‌ पति उसे ननद के घर ले गया। मारपीट की और दहेज की मांग शुरू कर दी। वहां गर्भवती होने के 5 माह बाद गर्भपात हो गया। पति ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। इस मामले में प्रियंका ने पुलिस में शिकायत दी थी, जिस पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था।  

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: