वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह):तालाक के बाद समझौते के तहत पत्नी को 5.50 लाख रुपए और घर देना था। इसी बहाने धागा कारोबारी पति तलाकशुदा पत्नी को साथ ले गया। हत्या कर दिल्ली पैरलल नहर में फेंक दिया। शनिवार को रोहतक में नहर से पुलिस ने शव बरामद कर लिया। करनाल के रहने वाले राजेश ने 8 मरला चौकी में शिकायत दी कि 2004 में उन्होंने बहन रीटा की शादी पीरवाली गली काबड़ी रोड के रहने वाले जोगिन्द्र सिंह के साथ की थी। शादी के बाद बहन ने दो बच्चों को जन्म दिया। मारपीट की कई बार पुलिस में शिकायत की।

2018 में बहन ने पति पर थाना मॉडल टाउन में केस दर्ज करा दिया। फरवरी 2020 में सहमति से तलाक लेने के लिए कोर्ट में केस डाला। समझौता के अनुसार जोगिन्द्र ने बहन को साढ़े 5.50 लाख दे दिए। बाकी के 5.50 लाख रुपए और कुलदीप नगर का घर 10 अगस्त तक देने का वादा किया। बहन कुलदीप नगर में किराए के घर में रहने लगी। 14 अगस्त को जोगिंद्र बहन को घर से बुलाकर कश्यप कॉलोनी स्थित गोदाम पर ले गया। मॉडल टाउन एसएचओ सुनील ने बताया कि जोगिंद्र पर हत्या कर शव ठिकाने लगाने का केस दर्ज कर लिया है।राजेश ने बताया कि जोगिंद्र ने उन्हें कॉल कर बताया कि रीटा गोदाम पर आई थी। फिर वापस स्कूटी पर घर चली गई थी। वापस आया तो स्कूटी नहर के किनारे पड़ी मिली। राजेश ने बताया कि रीटा को चलाना नहीं आता था। जोगिंद्र ने झूठ बाेला कि स्कूटी से गई है। इसी से शक गहरा गया।राजेश ने बताया कि 10 जून को जोगिंद्र बहन और बेटी रिचा को स्कूटी से नहर में गिरा दिया था। लोगों ने बचा लिया था। अब दूसरी बार यह घटना हुई। रोहतक में बहन का शव मिला।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: