वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा):- आज भारतीय बाजारों में सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई। एमसीएक्स पर अक्तूबर का सोना वायदा 0.22 फीसदी गिरकर 51,665 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। वहीं चांदी वायदा एक फीसदी कम होकर 66,821 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले सत्र में, गोल्ड में तेजी आई, जबकि उससे पहले गोल्ड में लगातार पांच दिनों से गिरावट दर्ज की जा रही थी। कल सोने के वायदा भाव में 900 रुपये प्रति 10 ग्राम की वृद्धि हुई, जबकि चांदी 3,500 रुपये प्रति किलोग्राम उछल गई।

डॉलर सूचकांक 0.2 फीसदी गिरकर अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले करीब एक सप्ताह के निचले स्तर पर आ गया, जिससे अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोना कम महंगा हो गया। सोने के व्यापारी मुद्रास्फीति और मौद्रिक नीति पर अमेरिकी केंद्रीय बैंक की रणनीति के बारे में जानने के लिए फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल के भाषण का इंतजार कर रहे हैं। बैंक ने कोरोना वायरस संकट के दौरान दुनिया की शीर्ष अर्थव्यवस्था के लिए खरबों डॉलर की सहायता प्रदान की है, जिससे स्टॉक को वापस उछालने में मदद मिली है।

इस बीच, दुनिया के सबसे बड़े स्वर्ण-समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या ईटीएफ, एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग ने कहा कि बुधवार को उसकी होल्डिंग 0.3 फीसदी बढ़कर 1,252.09 टन हो गई।

कोटक सेक्योरिटीज का कहना है कि भारतीय और चीनी बाजारों में छूट से स्पष्ट है कि सोने की मांग कम है। जब तक फेडरल रिजर्व के रुख पर अधिक स्पष्टता नहीं मिलती है और अमेरिकी डॉलर में रुझान रहता है, तब तक हम सोने की कीमतों का यह रुख जारी रह सकता है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: