वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा):- रेलवे (RRB), SSC और बैंकिंग (IBPS) की ग्रुप बी और ग्रुप सी के पदों पर भर्ती की परीक्षाओं के लिए अब एजेंसी द्वारा सामान्य पात्रता परीक्षा(CET) का वर्ष में दो बार आयोजन करेगी और इसमें प्रयासों की संख्या पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। सामान्य पात्रता परीक्षा का आयोजन तीन स्तरों – 10वीं, 12वीं और स्नातक स्तरों पर किया जाएगा। इसके तहत सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को केंद्रीय विभागों एवं संगठनों में भर्ती के लिए अलग-अलग आवेदन नहीं करने होंगे। सामान्य पात्रता परीक्षा के लिए मानक पाठ्यक्रम की व्यवस्था बाद में जारी किया जाएगा। यह हिन्दी एवं अग्रेजी के अलावा भारतीय भाषाओं में आयोजन किया जाएगा। सामान्य पात्रता परीक्षा का आयोजन 2021 से किया जायेगा। आरम्भ में केवल तीन एजेंसियों के परीक्षाओं को राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) द्वारा आयोजित किया जाएगा।

केंद्रीय कैबिनेट ने एक अहम फैसला लिया है। इसके अनुसार अब देश में सरकारी नौकरियों के लिए एक ही कॉमन टेस्‍ट होगा। अभी तक युवाओं को कई प्रकार के टेस्‍ट से गुजरना होता था लेकिन अब सरकार ने इस नियम को बदल दिया है। नौकरी के लिए एक ही परीक्षा होगी। राष्ट्रीय भर्ती संस्था (National Recruitment Agency) कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट लेगी जिसका करोड़ों युवाओं को फायदा मिलेगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि सरकारी नौकरी के लिए युवाओं को बहुत से टेस्ट देने होते हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इसे समाप्त करने के लिए एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट आयोजित करने के लिए राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी पर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (सीईटी) की मेरिट लिस्ट 3 साल तक मान्य रहेगी, जिसके दौरान उम्मीदवार अपनी योग्यता और पसंद के आधार पर विभिन्न क्षेत्रों में नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं। केंद्र सरकार के सचिव सी चंद्रमौली ने इस फैसले पर कहा कि केंद्र सरकार में लगभग 20 से अधिक भर्ती एजेंसियां हैं। यद्यपि हम अब तक केवल तीन एजेंसियों के परीक्षाओं को सामान्य बना रहे हैं, लेकिन समय के साथ हम भविष्‍य में सभी भर्ती एजेंसियों के लिए सामान्य पात्रता परीक्षा (Common Eligibility Test) कराएंगे।  

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: