वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

चार दिन पहले शुरू हुए पूर्व मेयर और पार्षदों की अंतरकलह अभी भी उबाल पर है…रविवार को सुबह पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह ने प्रेस काफ्रेंस कर कहा कि एक-दो पार्षद माहौल खराब कर रहे हैं..उन्होंने जहां अपना पक्ष रखा, वहीं पार्षद दुष्यंत भट्ट से पूछ लिया कि उन्हें लाइट मेंटेनेंस के भुगतान का पत्र लिखने की पावर किसने दी? यह पावर सिर्फ मेयर के पास है…पार्षदों की कमेटी बनी हुई है। कमेटी को अधिकार दिया गया। पत्र पर मेयर के हस्ताक्षर क्यों नहीं कराए गए। पार्षद को पत्र जारी करने का अधिकार किसने दिया? इस मामले में भ्रष्टाचार हुआ है। इसी जांच होनी चाहिए….पलटवार करते हुए पार्षद दुष्यंत भट्ट ने कहा कि उन्होंने विधायक के कहने पर ही पत्र लिखा…शाम होते-होते विधायक प्रमोद विज डैमेज कंट्रोल में जुट गए और वह पार्षद खेमे के साथ खड़े नजर आए…

पूर्व मेयर ने कहा कि एक दो पार्षद जानबूझ कर बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं..पार्षद जेबीएम का भुगतान रोकने के लिए कहते हैं… कूड़ा न उठाने पर मेयर ने भुगतान रुकवाया है..उसके बाद पार्षद जेबीएम कंपनी को संतुष्टि पत्र देते है..ये बंद होना चाहिए..पार्टी ने मुझे चिट दी है..पार्षद कोई सुबूत, ऑडियो व वीडियो विधायक को नहीं दे पाए…उन्होने ऑडियो और वीडियो विधायक को दे दिए हैं…कुछ और सुबूत वक्त आने पर पेश करेंगे..बिना नाम लिये वार्ड नंबर 25 के पार्षद दुष्यंत भट्ट के पत्र को दिखाते हुए उन्होंने कहा कि स्ट्रीट लाइट मामले की जांच चल रही है…पार्षद ने संतुष्टि पत्र देकर ठेकेदार की 11 लाख रुपये की पेमेंट कराई…

विधायक प्रमोद विज ने शाम सात बजे पत्रकारों से कहा कि स्ट्रीट लाइट मेंटेनेंस की पेमेंट न होने से शहर में ब्लैक आउट की स्थिति हो गई थी…पूर्व मेयर से बात हुई, उनके मुताबिक ही पार्ट पेमेंट करने के लिए कहा गया था.. इस भुगतान का स्ट्रीट लाइट जांच के संबंध नहीं है… यह भुगतान उनके कहने से हुआ.. विधायक ने कहा कि सेक्टर 25 डेज होटल में एक पंचायत में पूर्व मेयर ने एक ऑडियो दी है इस ऑडियो में लेन देन की बात हो रही है..जांच कराने के बाद ही कुछ सामने आएगा…

पार्षद दुष्यंत भट्ट ने कहा कि पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह ने मेरे जिस पत्र पर आपत्ति जताई है वह रिपेयर एंड मेंटेनेंस के भुगतान के लिए है..भुगतान पर किसी प्रकार की कोई रोक नहीं लगाई थी..रिपेयर मेंटेनेंस का काम रुकने पर ठेकेदार मिले थे…विधायक के कहने पर यह पत्र जारी किया..पूर्व मेयर ने कमेटी की आड़ में पत्र जारी करने की जो बात कही है वह मेरे लेटर पैड पर था…कमेटी के दूसरे सदस्य पार्षदों के हस्ताक्षर हुए या नहीं यह विधायक व अन्य पार्षद ही बता पाएंगे…

पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह ने 2 दिन पहले यानी वीरवार को एकाएक भूपेंद्र मीडिया के सामने कुछ पार्षदो की ऑडियो ओर दस्तावेज लेकर आते हैं, भूपेंद्र का दावा था कि उनके पास पार्षदो के लेन देन की ऑडियो ओर भ्रष्टाचार के ऐसे सबूत है जिसको दिखाने के बाद मीडिया की सुर्खियां ही बदल जाएगी,लेकिन ऐन वक्त पर भूपेंद्र के पास विधायक प्रमोद विज के फोन आ गया और भूपेंद्र सिंहः ने प्रेस कांफ्रेंस कैंसिल कर दी,लेकिन भूपेंद्र दावे के साथ ये जरूर बोल गए कि अगले दिन वो 200 % कन्फेस करेंगे और उन पार्षदो का सच जनता के सामने लाएंगे जिनके कॉलर तो सफेद है लेकिन भरस्टाचार में सिर से लेकर पैर तक डूबे हुए है,

मामला बड़ा था क्योंकि सीधे आरोप मेयर अवनीत कौर के पिता पूर्व मेयर भूपेंद्र पर जेबीएम के साथ साठ गांठ के लगे थे,ओर मीडिया में ये मामला पूरी प्रमुखता  से छपा..विधायक प्रमोद विज के पास पूरे जेबीएम से सम्बंधित पूरे दस्तावेज है कि अब तक कितनी पेमेंट कूड़े उठाने एक नाम पर कम्पनी को गई और दूसरी कम्पनिया जो साफ सफाई शहर में कर रही है उसका लेखा जोखा भी नेता जी के पास है


TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: