वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

लघु सचिवालय में जिला स्तरीय मलेरिया वर्किंग कमेटी की अध्यक्षता करते हुए डीसी धर्मेंद्र सिंह ने संबंधित अधिकारियों को दो टूक निर्देश दिए। मलेरिया, डेंगू और चिकुनगुनिया की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग सहित संबंधित विभागों को उचित कदम उठाने होंगे। सरकारी अस्पतालों में इन बीमारियों की जांच और इलाज फ्री है। प्राइवेट अस्पताल व लैब डेंगू और चिकुनगुनिया टेस्ट की फीस 600 रुपये से अधिक न वसूलें। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए किए गए प्रबंधों की समीक्षा करते हुए, खामियों को सुधार पर बल दिया।

उन्होंने प्राइवेट अस्पतालों को निर्देश दिए कि निर्धारित फीस से संबंधित सूचना पट्ट भी टंगा होना चाहिए। इन बीमारियों की रोकथाम के लिए प्रत्येक कार्यालय में नोडल अधिकारी नियुक्त करें। इनका काम साफ-सफाई पर ध्यान रखना होगा। खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों से कहा कि सरपंचों को समय से इस बारे में जानकारी दी जाए। डीसी ने चिकित्सकों को निर्देश दिया कि बीमारियों से डराएं नहीं बल्कि बचाव के उपाय बताकर जागरूक करें। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को खाली पड़े प्लॉटों की रिपोर्ट तैयार करने, नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: