वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

COVID-19 से जारी जंग के बीच हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने सूबे के स्‍कूलों को खोलने के संकेत दिए हैं. उनका कहना है कि कोरोना के डर से हम हमेशा के लिए घर में नहीं बैठ सकते हैं. लिहाला, सूबे के सभी स्‍कूलों को जल्‍द खोलना होगा, जिससे बच्‍चों के पाठ्यक्रम को समय से पूरा किया जा सके.  वहीं कोरोना संक्रमण के खतरे को लेकर उनका कहना है कि कोरोना की मौजूदगी के साथ दुनिया को अब आगे बढ़ना होगा.

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल का कहना है कि कोरोना संक्रमण के जोखिम से कोई इंकार नहीं कर सकता है, लेकिन इसका मतलब यह भी नही है कि हम हमेशा के लिए घर में बैठ जाएं. चूंकि, अभी यह नहीं कहा जा सकता है कि कोरोना का प्रकोप कब तक जारी रहेगा, इसीलिए हमें सभी सावधानियों और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते हुए स्‍कूलों को खोलने का क्रम शुरू करना चाहिए. उन्‍होंने यह भी कहा कि कारखाने और बाजार लगभग पूरी तरह से खुल गए हैं और जल्‍द ही स्‍कूलों को भी खोल दिया जाएगा.

शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने बताया कि स्‍कूल खोलने को लेकर सरकार एक प्‍लान पर काम कर रही है. जिसके तहत, जुलाई में 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई स्‍कूलों में शुरू करने पर विचार चल रहा है. इन कक्षाओं के बच्‍चे न केवल समझदार है, बल्कि वह अपना ख्‍याल भी रखने में सक्षम हैं. सोशल डिस्‍टेंसिंग को ध्‍यान में रखते हुए स्‍कूलों को दो पारियों में चलाने पर भी विचार किया जा रहा है. जिसमें 50 फीसदी बच्‍चे पहली पारी में और बाकी बच्‍चे दूसरी पारी में स्‍कूल आएंगे. स्‍कूल खोलने के बाद, सामने आने वाली समस्‍याओं का निराकरण किया जाएगा.

TEAM VOICE OF PANIPAT  

Share: