वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

जिला प्रशासन की ओर से लघु सचिवालय के कांफ्रैंस हॉल में रबी फसल खरीद को लेकर सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता  उपायुक्त हेमा शर्मा ने की। बैठक में समालखा के एसडीएम साहिल गुप्ता, एसडीएम दलबीर सिंह, नगराधीश सुमन भांखड़, डीएफएससी अनिता खर्ब , सभी मार्किट कमेटियों के सचिवों सहित विभिन्न अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
उपायुक्त हेमा शर्मा ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि रबी फसल उपज खरीद सीजन 20 अप्रैल से शुरू हो रहा है। इसलिए जिला की सभी मंडियों में खरीद के सभी प्रबंध पूरे कर लिए गए होंगे। उन्होंने कहा कि सभी मंडियों में मंडी समितियों के सचिव किसानों को सभी प्रकार की आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाएंगे।  उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि वे प्रतिदिन अपनी निर्धारित डयूटी के अनुसार संबंधित मण्डी तथा खरीद केन्द्रों का निरीक्षण करें। वे खाद्यानों की आवक, उनकी समुचित उठान व्यवस्था के प्रबंधों तथा अन्य संबंधित समस्याओं बारे प्रतिदिन आवश्यक कदम उठाएं, ताकि मण्डी में अनाज लेकर पहुंचने वाले किसानों को किसी प्रकार की असुविधा न हो।
उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए हैं कि वे अलॉट की गई मण्डियों / खरीद केन्द्रों की सम्पूर्ण व्यवस्था देखने के दौरान यह भी सुनिश्चित करें कि मार्के ट फीस में किसी प्रकार की चोरी न हो। साथ ही, संबंधित अधिकारी प्रतिदिन मण्डी / खरीद केन्द्र का निरीक्षण करके उपायुक्त कार्यालय में हर रोज सायं 5 बजे तक की रिपोर्ट भेजना सुनिश्चित करेंगे।
उन्होंने सभी अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि वे रविवार को ही सभी मंडियों में जाकर सरकार  द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का जायजा लें। यदि कहीं कमी आती है तो उसे तत्काल जिला प्रशासन के संज्ञान में लाएं। उन्होंने सभी आढ़ती एसोसिएशन के प्रधानों से अनुरोध किया कि वे मंडी में आए हुए किसानों को प्रेरित करे कि वे अपने खेतों में फांस न जलाएं और अपने गेंहू को सुखाकर ही मंंडी में लाएं।
——————————————————————————————————


कोरोना वायरस से बचाव को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी अहम कदम उठाते हुए योद्धाओं की तरह इस लड़ाई में आगे आई हैं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने फेस मास्क बनाने शुरू किए हैं। इसके लिए उपायुक्त हेमा शर्मा ने जिला की सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की प्रशंसा करते हए कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए घर के कपड़े से ही मास्क बनाने का कार्य शुरू किया है, जो कि सराहनीय है।
उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर स्तर पर तत्पर होकर देशवासियों का आहवान कर रहे हैं कि वे मानवता की रक्षा के लिए आगे आएं। इसी से प्रेरित होकर इन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने 32750 मास्क बनाकर सामाजिक स्तर पर बांटे हैं।
डीसी हेमा शर्मा ने कहा कि मास्क बनाने के कार्य में ये महिलाएं आंगनबाड़ी केन्द्रों व अपने घरों पर ही रहकर अपना कार्य कर रही हैं। साथ ही साथ सोशल डिस्टैन्सिंग का भी ध्यान रखा जा रहा है। यही नहीं, ये आंगनबाड़ी कार्यकर्ता फेस मास्क वितरित करते हुए कोरोना जैसी महामारी को रोकने में भी अहम भूमिका निभा रही हैं और लोगों को जागरूक भी कर रही हैं। महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी सरला यादव ने बताया कि आगंनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा बनाए गए ये मास्क वाशऐबल हैं। कोई भी व्यक्ति इन्हें दिन भर इस्तेमाल करके शाम को धोकर अगले दिन फिर इस्तेमाल कर सकता है।
——————————————————————————————
सीएमओ डॉ संतलाल वर्मा ने बताया कि जिले में कोरोना वायरस से सम्बन्धित कुल 338 सैम्पल अभी तक लिए गए हैं जिनमें से 316 की रिपोर्ट नेगटिव प्राप्त हुई है। 18 रिपोर्टस का परिणाम अभी प्राप्त नहीं हुआ है। होम अण्डर क्वारनटाईन के तहत 688 घरों के बाहर नोटिस चस्पा किए गए हैं। अब तक 493 घरों में 2438 लोगों को क्वारनटाईन में रखा गया है।
—————————————————————————————————-
कोरोना वायरस के विरूद्ध चल रही इस लड़ाई मेें सरकार द्वारा की जा रही अपील पर जिला पानीपत की पंचायतें भी आर्थिक सहायता देने में पीछे नहीं हैं। जिला की छ: पंचायतों ने करीब 15 करोड़ रूपये मुख्यमंत्री कोरोना रिलिफ फण्ड में देने का बीड़ा उठाते हुए शनिवार को इसकी शुरूआत भी की। ग्राम पंचायत बाल जाटान की सरपंच सरिता देवी ने शनिवार को गांव के पंचायत फण्ड में से 10 करोड़ 50 लाख रूपये की राशि का चैक चण्डीगढ़ में मुख्यमंत्री मनोहरलाल को सौंपा है। इस मौके पर पूर्व मंत्री कृष्णलाल पंवार भी मौजूद रहे।
डीसी हेमा शर्मा ने बताया कि पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री कोरोना रिलीफ फण्ड में अनुदान के रूप में राशि देने के मामले में पानीपत जिला पहले स्थान पर है। गांव डाहर की पंचायत ने एक करोड़ 11 लाख रूपये, बलाना की पंचायत ने 1 करोड़ रूपये, बोहली की पंचायत ने 50 लाख रूपये, ददलाना की पंचायत ने 50 लाख रूपये और सुताना की पंचायत ने 21 लाख रूपये मुख्यमंत्री कोरोना रिलीफ फण्ड में दिए हैं। उपरोक्त अनुदान राशि के अलावा बलाना की पंचायत ने एक करोड़ रूपये व ददलाना की पंचायत ने 50लाख रूपये देने का भी आश्वासन दिया है। उपायुक्त हेमा शर्मा ने इस महान कार्य के लिए इन पंचायतों की खुले मन से प्रशंसा की है।
डीडीपीओ राजबीर सिंह ने बताया कि जिला की पंचायतें इस कार्य में बिल्कुल भी पीछे नहीं हैं। कोरोना के विरूद्ध इस लड़ाई में प्रत्येक नागरिक अपनी भूमिका निभा रहा है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: