पानीपत में 70 सेकंड में थर्मल पावर के 344 फीट ऊंचे तीन टावर हुए धराशायी

वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)
पानीपत में थर्मल पावर स्टेशन के 105 मीटर (344 फीट) ऊंचे तीन कुलिंग टावर को रविवार को ध्वस्त कर दिया गया। इन्हें गिराने के लिए 50 किलो डायनामाइट का इस्तेमाल किया गया। तकनीक पुरानी होने के चलते यूनिट बंद कर दी गई थी, जिसके बाद इन टावर को गिराने का निर्णय लिया गया।


थर्मल पावर स्टेशन के एसई एके सचदेवा ने बताया कि टावर को गिराने का काम प्लानिंग के मुताबिक हुआ। टावर गिराने के लिए एहतियातन प्लांट के पास स्थित अन्य कंपनी के कर्मचारियों की छुट्टी कर दी गई थी।

मौके पर सीआईएसएफ के जवान तैनात रहे। रोड पर काफी देर तक ट्रैफिक भी रोक दिया गया। इससे पहले 5 अगस्त को थर्मल पावर स्टेशन की एक यूनिट को ध्वस्त किया गया था। वहीं, रविवार को ध्वस्त किए गए तीन टावरों यानी कुल चारों का कबाड़ मुंबई की कंपनी को 170 करोड़ में बेचा गया है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

leave a reply

Voice Of Panipat

Voice Of Panipat