वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

जुड़वा बच्‍चे पैदा होना तो आम बात हैं। तीन बच्‍चे एक साथ पैदा होते हैं तो विषय चर्चा वाला होता है। मगर पानीपत में एक महिला ने एक साथ चार बच्‍चों को जन्‍म दिया है। मॉडल टाउन स्थित मल्होत्रा मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में उत्तर प्रदेश के शामली निवासी महिला ने चार बच्चों को जन्म दिया है। नवजातों को बाल गहन चिकित्सा यूनिट में एडमिट किया गया है। जच्चा को सांस लेने में तकलीफ के चलते डॉ. प्रेम अस्पताल में भर्ती कराया है। महिला की यह पहला प्रसव है।

अस्पताल की स्त्री रोग एवं प्रसूति विशेषज्ञ डॉ. सोना ने बताया कि महिला बतरा कॉलोनी में किसी परिचित के यहां आई हुई है। अत्यधिक प्रसव पीड़ा और सांस लेने में तकलीफ होने पर गर्भवती काजल पत्नी सोनित को दो दिन पहले भर्ती कराया गया था। डॉ. अर्चना डायग्नोस्टिक के यहां का अल्ट्रासाउंड और उसकी रिपोर्ट भी थी। सोमवार को प्री-मेच्योर (सात माह) सिजेरियन डिलीवरी संपन्न करायी गई है। जन्म लेने वाले नवजातों में तीन लड़के और एक लड़की है। जन्म के समय दो का वजन करीब एक किलोग्राम दो का लगभग 800 ग्राम है।

प्री-मेच्योर डिलीवरी, नवजातों का वजन काफी कम होने के कारण उन्हें तुरंत बाल गहन चिकित्सा यूनिट में भर्ती करना पड़ा। डॉ. सोना के मुताबिक डिलीवरी के बाद जच्चा को सांस लेने में दिक्कत होने लगी। आनन-फानन में उसे प्रेम अस्पताल पहुंचाया गया। उधर, प्रेम अस्पताल के पीआरओ रोहित पानू ने बताया कि जच्चा गहन चिकित्सा यूनिट (आइसीयू) में वेंटीलेटर पर है।

डॉ. सोना ने बताया कि वे 16 साल से अभ्‍यास कर रही हैं। तीन बच्चों को जन्म देने के तो मामले आए, चार बच्चों के जन्म का पहला केस है। मेेरे लिए भी यह डिलीवरी किसी चुनौती से कम नहीं थी। काजल को काफी दिक्कत हो रही थी, इसलिए प्री-मेच्योर सिजेरियन डिलीवरी करानी पड़ी। नवजात स्वस्थ हैं, उनकी मां जल्द सामान्य हो जाए तभी खुशी होगी।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: