वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)
इंडियन नेशनल लोकदल के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने मंगलवार को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद और प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। अरोड़ा इनेलो के सात बार प्रदेशाध्यक्ष और थानेसर विधानसभा से चार बार विधायक रहे हैं। आज इस्तीफे के वक्त वह इतने भावुक नजर आए कि उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े।


इनेलो के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने मंगलवार दोपहर को कुरुक्षेत्र की पंजाबी धर्मशाला में कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई। कार्यकर्ताओं की रायशुमारी के बाद अरोड़ा ने इनेलो को छोड़ने का ऐलान किया। अरोड़ा ने कहा कि राजनीतिक परिस्थितियों को देखते हुए दुखी मन से इनेलो का साथ छोड़ रहे हैं। इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने उन्हें राजनीति में ताकत प्रदान की है, इसके लिए वे उनके ऋणी व आभारी हैं। वे इनेलो सुप्रीमो से जाकर माफी मांगेंगे व आशीर्वाद लेंगे….अरोड़ा ने स्पष्ट किया कि वे जनता से सलाह करने के बाद आगामी फैसला लेंगे और जिस पार्टी में जाएंगे, जीवनपर्यंत वहीं रहेंगे। उन्होंने इनेलो में 40 साल की लंबी राजनीति की है।


अरोड़ा ने सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों पर विराम लगाते हुए कहा कि अभी तक न उनकी मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बातचीत हुई और न ही पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा से। हालांकि अरोड़ा यह जरूरी स्पष्ट किया कि आज का दौर राष्ट्रीय राजनीतिक दलों का है।
TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: