वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)
हरियाणा के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर ने पार्टी से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस के नेतृत्व पर जमकर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के वफादार नेताओं को पार्टी में साइडलाइन किया जा रहा है. तंवर ने कहा, ‘हमारी ये हालत इसलिए है क्योंकि हमें साइडलाइन कर दिया गया.’
तंवर ने राहुल और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर कुछ बोलने से इनकार करते हुए कहा कि पार्टी की व्यवस्था में काफी कमियां हैं. मेरा गुस्सा कांग्रेस के लोगों से है, पार्टी की विचारधारा से नहीं.


मालूम हो कि हरियाणा विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अशोक तंवर ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. टिकट बंटवारे को लेकर तंवर कुछ समय से नाराज चल रहे थे. वहीं, अशोक तंवर ने पार्टी पर हरियाणा के सोहना विधानसभा सीट पर 5 करोड़ में टिकट बेचने का भी आरोप लगाया था.
तंवर हरियाणा चुनाव के लिए राज्य में हुए टिकट के बंटवारे से खुश नहीं थे. उन्होंने कहा, ‘बीते पांच सालों में जिन्होंने पार्टी के लिए काम किया उन्हें टिकट बंटवारे के दौरान अनदेखा किया गया. वहीं जिन्होंने पार्टी के खिलाफ काम किया उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंदर सिंह हुड्डा ने तवज्जो दी है.’


बीते दिनों तंवर ने कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर सभी जिम्मेदारियों से मुक्त करने का आग्रह किया था. उन्होंने कहा, ‘मैंने पार्टी की सभी समितियों और जिम्मेदारियों से राहत देने के अनुरोध के साथ सोनिया गांधी को एक पत्र भेजा है. मैं एक साधारण पार्टी कार्यकर्ता के रूप में काम करना जारी रखूंगा.’
हालांकि, पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने से पहले उन्होंने ट्विटर पर पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा देने का ऐलान किया था और कहा था कि वो प्राथमिक सदस्य के तौर पर पार्टी के माध्यम से जनता की सेवा करते रहेंगे. लेकिन अब उन्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है.
TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: