हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का सुरक्षा घेरा मजबूत कर दिया गया है,,,विधानसभा चुनाव के दौरान आबूधाबी में मैकेनिक का काम करने वाले रेवाड़ी जिले के एक व्यक्ति ने दुष्यंत चौटाला को फोन पर जान से मारने की धमकी दी थी,,,दुष्यंत के लिए ये धमकी उनके निजी सचिव सतीश बैनीवाल के फोन पर आई थी,,, अब राज्य सरकार ने सुरक्षा रिव्यू करने के बाद दुष्यंत चौटाला को जेड श्रेणी की सिक्योरिटी देने का निर्णय लिया है,, मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास जेड प्लस सिक्योरिटी है। दुष्यंत हरियाणा में दूसरे ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्हें जेड श्रेणी की सिक्योरिटी उपलब्ध कराई गई है…
जींद जिले के उचाना पुलिस स्टेशन में 15 अक्टूबर को पिछले साल सतीश बैनीवाल की शिकायत पर पुलिस ने दुष्यंत चौटाला को धमकी दिए जाने का केस दर्ज किया गया था। धमकी देने वाले की पहचान रेवाड़ी के रामपुरा के रहने वाले पवन यादव के रूप में हुई थी। रिव्यू कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि यह मामला इंटरनेशनल धमकी से जुड़ा है और दुष्यंत चौटाला अब प्रदेश के उप मुख्यमंत्री हैं, ऐसे में उनकी सिक्योरिटी बढ़ाई जानी चाहिए। हरियाणा सरकार ने तत्काल प्रभाव से अगले छह महीनों के लिए दुष्यंत को जेड सिक्योरिटी देने के आदेश दे दिए हैं। चंडीगढ़ एसआइबी के एडीजीपी मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई सुरक्षा रिव्यू बैठक में हरियाणा पुलिस ने सिक्योरिटी के आइजी सौरभ सिंह, सीआइडी के एसपी हामिद अख्तर, चंडीगढ़ स्टेट इंटेलिजेंस ब्यूरो के असिस्टेंट डायरेक्टर जेपी जस्सू और गृह विभाग के अंडर सेक्रेटरी महा सिंह की मौजूदगी में दुष्यंत को जेड सिक्योरिटी की सिफारिश की
जेड श्रेणी की सुरक्षा में चार से पांच एनएसजी कमांडो सहित कुल 22 सुरक्षागार्ड तैनात होते हैं। इसमें दिल्ली पुलिस, आइटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो व स्थानीय पुलिसकर्मी भी शामिल होते हैं,,इन सुरक्षा कर्मियों को दुष्यंत के चंडीगढ़, जींद और सिरसा आवास पर भी तैनात किया जाएगा,,
TEAM VOICE OF PANIPAT
Share: