वायस आफॅ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)- डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने एक बार फिर एसईटी की रिपोर्ट में की टिप्प्पणियों के आधार पर की गई कार्यवाही की सिफारिश पर एतराज जताया है। शराब ठेकों को बंद न किए जाने को लेकर ईटीसी शेखर विद्यार्थी के खिलाफ गृह मंत्री अनिल विज द्वारा कार्यवाही की सिफारिश की गई थी।

चौटाला इस पर भी आपत्ति जता रहें कि एक ही व्यक्ति को कैसे कसूरवार उठाया जा सकता है। पत्रकारों से बातचीत में डिप्टी सीएम ने कहा कि विभाग के पास सभी जिलों में ठेके बंद करवाए जाने की रिपोर्ट आ गई थी। इसमें ढील की बात कह कर कार्रवाई की मांग करने पर उन्हें एतराज है। उन्होंने कहा कि एसईटी की रिपोर्ट के आधार पर ये कहना गलत है कि शराब से संबंधित मामलों में गलती किसी एक की है। कहा कि गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर उन्होंने सख्त कार्रवाई पहले भी की है और गड़बड़ी के जिम्मेदार शख्स पर कार्रवाई करने से अब भी पीछे नहीं हटेंगे।

उन्होंने कहा कि एसईटी ने अपनी जुटाई जानकारियों के आधार पर कुछ सिफारिशें की हैं, जिन पर अंतिम निर्णय लेने का अधिकार राज्य सरकार के पास है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कानून के हिसाब से जो भी कार्रवाई बनती होगी, वो की जाएगी। गृह मंत्री अनिल विज ने लॉकडाउन में ठेके बंद न होने पर एसईटी की रिपोर्ट के आधार पर ईटीसी शेखर विद्यार्थी के खिलाफ मुख्यमंत्री से कार्यवाही की सिफारिश की है। जबकि दुष्यंत चौटाला ने दूसरे ही दिन विद्यार्थी को क्लीन चिट दी तो इसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर ने कहा था कि रिपोर्ट में जिसका भी नाम आया है, उसके खिलाफ कार्यवाही होगी।

डिप्टी सीएम ने कहा कि शराब कारखानों को सॉफ्टवेयर से जारी हुए परमिट के मामले में विभाग 2 महीने पहले ही कारण बताओ नोटिस जारी कर चुका है। संबंधित अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांग चुका है ताकि ऐसी गड़बड़ी आगे कभी ना हो।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: