वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

डी०ए०वी० पुलिस पब्लिक स्कूल में शुक्रवार को किंडर गार्टन विंग में धूमधाम से ग्रैंड पेरेंट्स डे मनाया गया। कहा जाता है बच्चे की सबसे पहली पाठशाला उसका घर होता है और उसके अध्यापक घर के बुजुर्ग। खेल-खेल में बच्चे अपने दादा-दादी से इतना कुछ सीख लेते हैं जिसका एहसास उन्हें बड़े होने पर होता है। इसी उपलक्ष्य में ग्रैंड पेरेंट्स को सम्मान देने हेतु सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया और किंडर गार्डन विंग में कक्षा पहली के छात्रों के दादा-दादी को आमंत्रित किया गया। स्कूल की प्रधानाचार्या अनुपमा सिन्हा जी द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के उपरांत कार्यक्रम आरंभ किया गया।

छात्रों ने नृत्य, अभिनय एवं लघु नाटिका द्वारा सभी का मनोरंजन करते हुए अपने दादा-दादी के प्रति अपना प्रेम प्रदर्शित किया। उन्होंने यह तारा के तारा हर तारा…, घोड़े जैसी चाल हाथी जैसी दुम…., प्यारे दादाजी हैं, हैं सबसे अनमोल…, दादाजी की छड़ी हूँ मैं…, दादाजी पापा के पापा दादी जी पापा की मम्मी… आदि गीतों पर प्रस्तुतियाँ देकर सभी की वाहि-वाहि लूटी। तत्पश्चात दादा-दादी के मनोरंजन हेतु हास्यप्रद खेलों का आयोजन किया गया जिसके अंतर्गत उन्होंने म्यूजिकल चेयर रेस, रिंग द टारगेट, फन विद नंबर्स , सेट द कॉइन इन द राइस बाउल आदि खेलों का आनंद उठाया।

स्कूल के प्रधानाचार्या अनुपमा सिन्हा जी ने तह दिल से सभी बच्चों के ग्रैंड पैरेंट्स का हार्दिक धन्यवाद किया और कहा बच्चे अपने दादा-दादी की आँखों के तारे हैं। दादा-दादी बच्चों के लिए पुस्तकालय, कहानी सागर, सर्वश्रेष्ठ समर्थन देने वाले व्यक्ति, अच्छे शिक्षक और प्यार से भरी दुनिया हैं । उनके कारण ही हमारे बच्चों में नैतिक गुणों का विकास होता है।

दादा-दादी के बिना बचपन अधूरा-सा लगता है क्योंकि वही हैं जो परिवार में संस्कारों की नींव रखते हैं और हमारे बच्चों के विकास में अहम् भूमिका निभाते हैं अतः सभी बच्चों को अपने दादा-दादी को बहुत प्यार करना चाहिए और उनकी सभी बातें माननी चाहिए। दादा-दादी ने भी स्कूल की गतिविधियों एवं कार्यक्रम की सराहनीय प्रशंसा की। सुपरवाइजरी हैड अमिता सिंह, नीलम शर्मा,  प्रवीन शर्मा, मंजू गुप्ता एवं अध्यापकगण संपूर्ण कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहें।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: