वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

हरियाणा सरकार राज्य में इलेक्ट्रानिक (ई-वाहनों) को बढ़ावा देने जा रही है,जिसका सीधा फायदा पैट्रोल और डीजल के दाम बढ़ती कीमतों से परेशान ग्राहकों को तो होगी ही साथ ही ऐसा करने से प्रदूषण पर भी रोक लगेगी।साथ ही किसी सरकारी विभाग में अधिकारियों को टूर पर जाने के लिए यदि किराये की गाड़ी की जरूरत होगी तो इलेक्ट्रानिक वाहन ही किराये पर लिए जाएंगे। प्रदेश सरकार की योजना प्राइवेट क्षेत्र में भी इलेक्ट्रानिक वाहनों की खरीद व इस्तेमाल को बढ़ावा देने की है। इसके चलते राज्य सरकार प्रदेश में करीब 500 स्थानों पर ई-चार्जिंग स्टेशन लगाने की तैयारी कर रही है। प्रत्येक तीन किलोमीटर के क्षेत्र में यह ई-चार्जिंग स्टेशन होगा।

पंचकूला में प्रदेश के पहले ई-चार्जिंग स्टेशन की शुरुआत की गई है।जहां हरियाणा के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता ने यह घोषणा की। बता दें कि केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सचिव तरूण कपूर ने पंचकूला के अक्षय ऊर्जा भवन में ई-चार्जिंग स्टेशन शुरू किया। इस ई-चार्जिंग स्टेशन में सभी प्रकार के इलेक्ट्रिक वाहनों को फ्री-चार्जिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी।

केंद्रीय सचिव तरूण कपूर ने बताया कि लोग ई-वाहनों का अधिक से अधिक उपयोग कर सकें इसके लिए  पहले ई-वाहनों के लिए पर्याप्त मात्रा में ई-चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध करवाए जाएं। पेट्रोल एवं डीजल को बाहर से मंगवाना पड़ता है, लेकिन हमारे पास सौर ऊर्जा का पर्याप्त भंडार है। इसलिए ई-चार्जिंग के लिए ऐसे ई-चार्जिंग स्टेशन देश के हर कोने में स्थापित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। केंद्र सरकार पेट्रोल पंपों पर भी ई-चार्जिंग प्वाइंट की सुविधा मुहैया कराने पर विचार कर रही है।

बता दें कि हरियाणा अक्षय ऊर्जा संरक्षण करने वाला भारत का पहला प्रदेश है। ई-चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध हो जाने का पहला फायदा नागरिकों का ई-वाहनों की ओर रुझान बढ़ेगा। वर्ष-2021 के दौरान हरियाणा के विभागों में किराये पर ली जाने वाली गाड़ियों में ई-वाहनों को प्राथमिकता दी जाएगी।

टीसी गुप्ता ने बताया कि नेशनल हाईवे पर भी ई-चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध करवाने के सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं। ई-वाहनों के आने से पेट्रोल व डीजल से चलने वाले वाहनों की प्रति किलोमीटर खपत भी बहुत कम होगी। सरकार की ओर से इन पर सबसिडी भी प्रदान की जा रही है। ई-वाहनों से आवाज और प्रदूषण भी बहुत कम होगा और ई-चार्जिंग स्टेशन ई-वाहनों के क्षेत्र में क्रांति लाने में कारगर साबित होंगे। इस मौके पर करनाल, गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला सहित पांच ई-वाहन मालिकों को चाबी सौंप कर रवाना किया गया। 

VOICE OF PANIPAT

Share: