वायस ऑफ पानीपत (देेवेंद्र शर्मा)

प्रदेश में सीआईडी को लेकर कंट्रोवर्सी अब तक खत्म नहीं हुई कि अब  डॉक्टरों की भर्ती को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। स्वास्थ्य विभाग में शुरू हुई 447 डॉक्टरों की भर्ती प्रक्रिया पर सीएमओ ने रोक लगा दी है, जबकि भर्ती को सीएम की मंजूरी के बाद वित्त विभाग ने भी हरी झंडी दे दी थी। 1 जनवरी को विज्ञापन जारी कर आवेदन भी मांग लिए थे। आवेदन के लिए आखिरी तारीख 22 जनवरी थी। अब तक करीब 500 आवेदन विभाग के डीजी के पास जमा हो चुके हैं।

स्वास्थ्य विभाग अनिल विज के पास है। इसलिए भर्ती पर सीएमओ की तरफ से अचानक रोक लगाए जाने से विवाद बढ़ सकता है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि डॉक्टरों की भर्ती प्रक्रिया विभाग ने शुरू की थी, जो इंटरव्यू के जरिए पूरी की जानी थी, लेकिन अब भर्ती प्रक्रिया को रोक दिया गया है। क्यों रोका गया है, इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है…..

सरकार के पहले कार्यकाल में करीब 900 डॉक्टरों की भर्ती स्वास्थ्य विभाग में सीधे इंटरव्यू से की गई थी। यह भर्ती भी इसी प्रक्रिया से की जानी थी। इंटरव्यू के जरिए डॉक्टरों की भर्ती करने का विधेयक भी विधानसभा में पास किया गया था। एचपीएससी से भर्ती प्रक्रिया में ज्यादा वक्त लगता है। विभाग की ओर से करीब 350 डॉक्टर काॅन्ट्रैक्ट पर भी लिए जाने हैं…

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: