वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)
इनेलो नेता अभय चौटाला के बाद शुक्रवार दोपहर जजपा नेता दुष्यंत चौटाला ने भी परिवार के एक होने के संकेत दिए ही थे कि रात में बसपा ने जजपा से अलग होने की घोषणा कर दी। दरअसल, दिल्ली में जजपा नेता दुष्यंत ने कहा कि कई सामाजिक खापों के प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद वे पिता अजय चौटाला से जेल में मिले। इसके बाद उन्होंने परिवार को लेकर कोई भी फैसला लेने के लिए पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल और ओमप्रकाश चौटाला को अधिकृत किया है। तभी देर रात बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर जजपा से गठबंधन तोड़ने की घोषणा कर दी। इससे पहले दुष्यंत ने कहा था, राजनीतिक तौर पर हमारा गठबंधन बसपा के साथ है।

इसलिए राजनीतिक तौर पर निर्णय संगठन और गठबंधन पार्टनर से बातचीत के बाद ही होगा। दुष्यंत ने मायावती के निर्णय के जवाब में कहा कि हमने बसपा को पूरा सम्मान दिया था। 11 अगस्त को दिल्ली में दुष्यंत चौटाला और बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने साथ विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। तय था कि जेजेपी-50 व बसपा-40 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

मायावती ने कहा कि बीएसपी राष्ट्रीय पार्टी है, जिसके हिसाब से हरियाणा में होने वाले विधानसभा आमचुनाव में दुष्यंत चौटाला की पार्टी से जो समझौता किया था वह सीटों की संख्या व उसके बंटवारे के मामले में उनके अनुचित रवैये के कारण इसे बीएसपी हरियाणा यूनिट के सुझाव पर समाप्त किया जा रहा है। पार्टी हाईकमान ने यह फैसला किया है हरियाणा प्रदेश में शीघ्र होने वाले विधानसभा चुनाव में बीएसपी अकेले ही पूरी तैयारी के साथ सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जजपा स्वर्गीय देवीलाल के आदर्शों और बाबा साहेब की सर्वहित की नीतियों पर आगे बढ़ रही है। 11 अगस्त को बसपा से गठबंधन के बाद हमारी कोशिश किसान, कमेरों को मजबूत कर पूंजीवादी ताकतों को बाहर करने की रही। जजपा ने बसपा उनके नेतृत्व व समर्थकों को ताकत देने में यकीन किया। उन्हें 40 सीटों का प्रस्ताव दिया। हमारी इच्छा बहुजन समाज को राजनीतिक ताकत देने की रही। जजपा सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
इनेलो के पूर्व विधायक राजदीप फौगाट, नैना सिंह चौटाला, पिरथी सिंह नंबरदार और अनूप धानक ने पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला की मौजदूगी में शुक्रवार को जेजेपी जॉइन कर ली। दुष्यंत चौटाला ने चारों पूर्व विधायकों को पार्टी का झंडा थमाते हुए कहा कि सभी को उचित सम्मान और जिम्मेदारी दी जाएगी। फरीदाबाद जिले में इनेलो के बीसी सेल के अध्यक्ष एवं स्वर्णकर समाज के अध्यक्ष सुरेश वर्मा और दादरी जिले से रिटायर्ड टेक्निकल ऑफिसर साधु राम चौधरी भी जेजेपी में शामिल हुए।
TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: