वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

वार्ड नंबर 23 के पूर्व पार्षद शीला देवी का बैंक अधिकारियों ने लोन न चुकाने पर मकान सील कर दिया। बैंक का आरोप है कि शीला के पति ने लोन समय पर नहीं चुुकाया इसलिए ये कार्रवाई की गई। जिस वक्त अधिकारियों ने मकान को सील लगाई उस समय दो युवती अंदर ही रही गईं और अधिकारी सील लगाकर चले गए…

कुलदीप नगर में पूर्व पार्षद शीला देवी का मकान दा पानीपत अर्बन कोऑप्रेटिव बैंक ने सील कर दिया, जबकि पूर्व पार्षद की दो बेटियां सोनिया और मोनिया मकान के ऊपर वाले कमरे में थीं। शीला देवी ने आरोप लगाया कि उसने कोर्ट में केस किया हुआ है। जिसकी तारीख वीरवार को थी। वह रिश्तेदारी में पैसों का जुगाड़ करने गई हुई थी। बैंक कर्मियों और अधिकारियों ने उसका सामान भी बाहर नहीं निकाला और न ही उसकी लड़कियों को बाहर निकाला। उसने बताया कि उसके पति राजबीर ने लोन किया था। जिसमें वह कुछ रकम जमा करा चुकी है। उसने बैंक से ब्याज माफी के लिए कहा था, परंतु बैंक ने एक तरफ कार्रवाई कर दी। इस बारे में बैंक मैनेजर ओपी कौशिक ने बताया कि नायब तहसीलदार सुरेश और पुलिस बल के सामने मकान सील किया गया उस समय मकान में कोई नहीं था। उनके पास इसकी वीडियो भी है।


शीला देवी ने बताया कि बैंक अधिकारी दोपहर 3:30 बजे मकान को सील करके चले गए। जब उसने इसकी शिकायत डीसी से कही तो उनके आदेश के बाद बाद बैंक अधिकारी दोबारा मौके पर पहुंचे और रात 9 बजे सील को दोबारा से खोला गया और दोनों युवतियों को बाहर निकाला गया…

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: