वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)
लाल जोड़े में सजी दुल्हन, माथे पर टिका ,हाथों में मेहंदी और सिर पर कलश…दुल्हन के लिबास में लिपटी ये दुल्हने किन्नर है…जिन्हें देख हर कोई हैरान रह गया..कलन्दर पीर में बैठे किन्नर समाज के लोग रस्म अदायगी कर रहै है…इनकी खूबसूरती ऐसी कि बॉलीवुड की हीरोइन भी इनके आगे फेल हो जाये..देश भर से आई हुए किन्नरों का महासम्मेलन पानीपत में पिछली 27 नवम्बर से चल रहा है..रात्रि जागरण के बाद इस अखिल भारतीय किन्नर महासमेलन की शुरुआत हुई..अपने बुजुर्गो की याद में यह सम्मलेन किन्नर समाज मनाता है..
कलन्दर पीर पर रस्म अदायगी करने के बाद पहले पीर पर चद्दर चढ़ाई जाती है.. उसके बाद सिर पर कलश उठाकर रथ पर सवार होकर ये किन्नर सड़को पर उतरते है..सड़को पर चलते लोगो के कदम उस वक्त ठहर गए…जब उनकी नज़रे इन खूबसूरत किन्नरों पर पड़ी..इस महासम्मेलन में देशभर से हज़ारों किन्नरों भाग ले रहे है जिसका कई स्थानों पर पहुचने पर फूल बरसाकर आतिशबाजी के साथ स्वागत किया गया…वही दुल्हन के लिबाज में सजे किन्नरों ने सिर पर कलश उठा काफी दूर तक पैदल चले..
.शोभायात्रा के  दौरान रथों पर किन्नर समाज के गुरु बैठे हर नज़र आये..इतना ही नही सम्मेलन में आये हुए सभी किन्नरों ने ढोलक की थाप पर नाचते गाते हुए भी दिखे..ये यात्रा इंसर बाजार के अलावा शहर के प्रमुख स्थानों से होते हुए हाली पार्क के सामने किन्नरों के डेरे पर पहुची..
10 दिसम्बर तक चलने वाले इस सम्मलेन में बंगाल से लेकर शिमलाजम्मू पंजाब तक के किन्नर समाज से जुड़े लोग पहुचे है,जिसकी अगुवाई पानीपत के रहने वाले किन्नरों के गुरु कर रहे है,10 दिसम्बर तक चलने वाले इस समारोह में किन्नर समाज की कई रस्मे होती है साथ एक दूसरे से जो मन मुटाव होते है उन्हें दूर किया जाता है…
 TEAM VOICE OF PANIPAT
Share: