वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

एक ओर जहां कड़ाके की ठंड पड़ रही है तो दूसरी तरफ मौसम भी करवट लेते हुए तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी का रुख अपना रहा। देर रात के बाद  सुबह तक बूंदाबांदी चलती रही। हवा और बूंदाबांदी के कारण ठिठुरन भी बढ़ गई है। सुबह के समय बरसात के चलते रोजमर्रा के कामों के लिए निकलने वाले लोग भी देरी से निकलना पड़ा।

इस बरसात से जहां सुबह के समय पड़ने वाली धुंध हटी है। वहीं, इससे गेहूं की फसल को भी कोई नुकसान नहीं है। जबकि सब्जियों की फसल को नुकसान होने की संभावना है। सोमवार को न्यूनतम तापमान 11 डिग्री रहा था, जो आज सुबह के समय नौ डिग्री दर्ज किया गया है। जिले में कुल बरसात तीन एमएम दर्ज की गई। सोमवार को दिन में तो अधिकतम तापमान सबसे अधिक 21 डिग्री दर्ज किया गया था। मौसम विभाग के अनुसार अभी अगले दो दिन तक लगातार बरसात होने की संभावना बनी है। बरसात के बंद होने के बाद मौसम में फिर से गहरी धुंध छाएगी।

वहीं कई दिन की तेज धुंध के बाद पिछले दो दिन से बूंदाबांदी आने से कुछ राहत मिली थी। बता दें कि बीते दिन दिनभर धूप खिली रही। इससे अधिकतम तापमान एकाएक बढ़ गया था। जिससे इंसानों के ही नहीं बल्कि पशु पक्षियों के चेहरे भी खिल उठे। लोगों ने ठंड से कुछ राहत ली थी।

VOICE OF PANIPAT

Share: