वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

हिंदू पंचांग के अनुसार हिंदुओं के नव वर्ष की शुरुआत चैत्र नवरात्रि से होती है। माना जाता है कि चैत्र नवरात्रि में भगवान राम और मां दुर्गा का जन्म हुआ था। माता के भक्त मां को प्रसन्न् करने के लिए साल में दो बार शारदीय नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि का व्रत रखते हैं। चैत्र नवरात्र हर वर्ष चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरू होते हैं। इस साल चैत्र नवरात्रि 24 मार्च दोपहर 2:57 बजे से शुरु हो रहे हैं। बता दें, चैत्र नवरात्रि की प्रतिपदा तिथि 24 मार्च दोपहर 2:57 बजे से शुरु होकर 25 मार्च दोपहर 5:26 बजे तक रहेगी। खास बात यह है कि इस बार चैत्र नवरात्रि के व्रत में किसी भी तिथि का क्षय नहीं है। जिसकी वजह से माता के भक्त पूरे नौ दिनों तक मां की पूजा अर्चना और व्रत कर पाएंगे।

इस दिन होगी कलश की स्थापना-

25 मार्च 2020 से जिस दिन चैत्र नवरात्रि की शुरूआत होगी उसी दिन कलश की भी स्थापना होगी।

नवरात्रि पर किस दिन करें किस मां की पूजा-

पहला दिन- देवी शैलपुत्री

दूसरा दिन- ब्रह्मचारिणी

तीसरा दिन- चंद्रघंटा

चौथा दिन- कूष्मांडा

पांचवा दिन- स्कंध माता

छठा दिन- कात्यायिनी

सातवां दिन- कालरात्रि

आठवां दिन- महागौरी

नौवां दिन- सिद्धिदात्री

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: