वॉइस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा )- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व गृह मंत्री अनिल विज ने प्रदेशवासियों को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने महाभारत के युद्ध में स्वजनों को देखकर विमुख हुए अर्जुन को आत्मा की अमरता का संदेश दिया, जो हिंदुओं का धार्मिक ग्रंथ ‘श्रीमद्भगवद्गीता’ बना। यही ग्रंथ आज दार्शनिक परंपरा की आधारशिला है और समस्त मानवता के लिए प्रेरणास्रोत है। श्रीकृष्ण का चरित्र हमें लौकिक और आध्यात्मिक शिक्षा देता है। गीता में उन्होंने स्वयं कहा है कि ‘कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन’ अर्थात व्यक्ति को मात्र कर्म करना चाहिए फल की इच्छा नहीं रखनी चाहिए। भगवान श्रीकृष्ण की शिक्षाएं और दर्शन आज भी प्रासंगिक हैं और हमें एक सफल जीवन जीने के लिए उनका पालन करना चाहिए।

उपमुख्यमंत्री ने कहा है कि श्रद्धा, आस्था और विश्वास से परिपूर्ण श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व का मानव-जीवन में युगों-युगों से विशेष महत्व रहा है। श्रीकृष्ण ने गीता के माध्यम से कर्मयोग का जो ज्ञान दिया है, वह आज भी हमारे जीवन में प्रासंगिक है। उन्होंने प्रदेशवासियों से आग्रह किया है कि वे कोरोना के दृष्टिगत सामूहिक आयोजनों से बचें और नियमों का पालन करते हुए जन्माष्टमी पर्व को हर्षोल्लास के साथ अपने घरों में ही मनाएं।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: