वायस आफॅ पानीपत(देवेंद्र शर्मा)- दुनिया 5g की तरफ बढ़ रही है,सब काम डिजिटल हो रहे हैं। लेकिन इस डिजिटल दुनिया मे जहा बहुत से काम आसान हो गए हैं। तो वही इसके चलते साइबर खतरों का डर भी बढ़ने लगा है। प्रदेश मे लगातार बढ़ते जा रहे सायबर क्राइम चिंता का विषय बनते जा रहे हैं। तो वही इससे सबसे बड़ा खतरा लोगो के डाटा चोरी होने से संबंधित है। दिन प्रतिदिन बढ़ रहे साइबर क्राइम को देखते हुए हरियाणा के हर जिले मे साइबर रेस्पॉन्स सेन्टर स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। और इसके साथ ही साइबर क्राइम को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पुलिस साइबर अपराध और इससे जुड़ी सावधानियों के बारे मे लोगो को शिक्षित और जागरूक करने के लिके स्कूल कॉलेजों और कॉलोनियों आदि का दौरा करेंगे।

राज्य सरकार ने हाल ही मे रोहतक, हिसार, करनाल, अंबाला ,रेवाड़ी, और फरीदाबाद मे एक एक नए साइबर क्राइम थाने की मंजूरी दी है। साथ ही राज्य पुलिस जल्द ही अपने साइबर अपराध के नेटवर्क को भी उन्नत और मजबूत करेगी। पुलिस ने बताया कि साइबर क्राइम का नया चलन सामने आया है जिसमे लोगो को ठगने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पाए राजनेताओं के साथ प्रमुख हस्तियों के फर्जी प्रोफाइल हैक करने या बनाने की कोशिश कर रहे हैं। जिससे सतर्क और सावधान रहने की ज़रूरत हैं। कई ऑनलाइन हैकर पैसे एटने के लिए मशहूर हस्तियों के फर्जी एकाउंट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। इन सभी बातों को ध्यान मे रखते हुए नए साइबर रेस्पॉन्स सेन्टर खोलने का ये फैसला लिया गया है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: