वायॅस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- हरियाणा एक ऐसा प्रदेश जहा से सबसे ज्यादा खिलाड़ी निकलते है। देश से लेकर विदेशो तक अपने हुनर से हरियाणा का नाम खेल में भी ऊँचा करते है। इस बार भी हरियाणा के खिलाड़ियो ने एक बार फिर से हरियाणा का नाम रोशन कर दिया है। मेडल जीतने वाले हरियाणा ने पुरस्कारो की दौड में भी बाजी मार ली है। प्रदेश में खिलाड़ियों ने एक बार फिर परचम लहरा दिया है। देश का सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए हरियाणा के दो खिलाड़ियों का नाम चुना गया है। इनमें हरियाणा के दो खिलाड़ी रेसलर विनेश फोगाट का नाम शामिल हैं। जो हमेशा से कई मेडल अपने नाम करती आई है। इसके साथ ही महिला हॉकी टीम की कैप्टन रानी रामपाल का नाम भी पुरस्कार के लिए दिया गया है। खास बात ये है कि एक महिला हॉकी खिलाड़ी का खेल रत्न अवार्ड के लिए चयनित होना इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा।

खेल रत्न पुरस्कार के लिए 5 खिलाड़ियों के नामों की सिफारिश की गयी थी और खेल मंत्रालय ने उन सभी नामों को स्वीकार कर लिया है। और इन नामों के साथ ही हरियाणा के साथ एक नया इतिहास जुड़ गया है। हरियाणा सबसे ज्यादा खेल रत्न प्राप्त करने वाला प्रदेश बन गया है। देश मे करीब अभी तक 38 खिलाड़ियों को खेल रत्न मिल चुका है जिसमे सबसे ज्यादा हरियाणा के अब 8 खेल रत्न होंगे। खेल पुरस्कार के लिए चयनित पहलवान विनेश फोगाट ने कहा है ओलंपिक में जाने से पहले इस सम्मान से उनका हौसला ओर बढ़ा है। साथ ही उन्होंने इस सम्मान के लिए सरकार, खेल मंत्रालय के प्रति आभार व्यक्त किया है। रानी रामपाल ने अवार्ड को देश को समर्पित करते हुए इसे हरियाणा के सिर का ताज बताया। इसके अलावा 8 खेल प्रशिक्षकों को द्रोणाचार्य अवार्ड के लिए भी चुना गया है। जिनमे से दो हरियाणा के है। अर्जुन व ध्यानचंद पुरस्कार हासिल करने मे भी प्रदेश के खिलाड़ियों ने बाजी मारी है। हरियाणा के खिलाड़ियों ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते एक बार फिर प्रदेश और देश का नाम ऊचा कर दिया है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: