वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिहं)

पानीपत के लिए बड़ी खबर है कि टिड्डी दल का सोनीपत के रास्ते पानीपत जिला में सांयकाल तक प्रवेश करने की संभावना है….पानीपत के डीसी धर्मेद्र सिंह ने कहा है कि सभी किसान भाइयों विशेष तौर पर समालखा व इसराना खंड के किसानों से अनुरोध है कि वे अपने आवाज करने वाले सभी यंत्र तथा सामान (थाली, परात, चम्मच-कटोरी आदि) लेकर तैयार रहें। इसलिए समालखा और इसराना के किसान भाइयों को विशेष तौर पर तैयार रहना होगा।

इस टिड्डी दल में 60 लाख टिड्डिया हैं, जिसकी लंबाई 10 किलोमीटर है तथा चौड़ाई 6 किलोमीटर है। दिन के समय टिड्डी दल प्रवेश करता है तो शोर (आवाज) करके उसे भगाना होगा और यदि रात्रि के समय टिड्डी दल आता है तो उसे दवाइयों के स्प्रे से भगाया जाएगा। क्लोरोपायरिफॉस दवाई का निजी दुकानों पर स्टॉक उपलब्ध है,वहां से यह खरीदी जा सकती है। जिला प्रशासन हर सम्भव सहायता के लिए किसानों के साथ है, अत: घबराने की आवश्यकता नहीं है। इसके बारे में किसान सभी सूचनाएं सांझा कर सकता है।

इस समय किसान भाइयों व आम जनमानस को जिला प्रशासन के साथ सहयोग करने की जरूरत है। जिन किसानों के पास स्प्रे की मशीनें इत्यादि हैं वे अपने ट्रेक्टरों पर बांधकर तैयार रखें। टिड्डी दल की समस्या से निपटने के लिए एकजुट होकर डटे रहें। किसी भी सहायता के लिए कृषि विभाग के एपीपीओ के नंबर 9416304356 पर सम्पर्क करें।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: