वॉइस ऑफ पानीपत ( देवेंद्र शर्मा ): राज्य में मंगलवार से ग्रामीण क्षेत्र की कृषि भूमि की रजिस्ट्री की ई-अपॉइंटमेंट प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। कृषि भूमि की डीड का पंजीकरण 17 अगस्त से शुरू किया जाएगा। शहरी क्षेत्र की भूमि के पंजीकरण के लिए ई-अपॉइंटमेंट की प्रक्रिया 17 से शुरू होगी। सचिवालय में सीएम मनोहर लाल व डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने सीनियर अफसरों के साथ दो घंटे से ज्यादा चले मंथन के बाद यह निर्णय लिया है।रजिस्ट्रियों में मिली गड़बड़ी के बाद रजिस्ट्री से जुड़े साॅफ्टवेयर को डेवलप किया जा रहा है। इसमें राजस्व विभाग की आईटी से जुड़े अधिकारी-कर्मचारी जुटे हुए हैं। बैठक में सीएम को बताया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि के ई-पंजीकरण के लिए मॉड्यूल राजस्व विभाग द्वारा तैयार किया गया है। इसका परीक्षण पूरा हो चुका है।

एप्लीकेशन के जरिए विभागों को किया लिंक
नई टेक्नोलॉजी के तहत टाउन एंड प्लानिंग डिपार्टमेंट, शहरी स्थानीय निकाय, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, एचएसआईआईडीसी, पुलिस, वन विभागों और मुकदमेबाजी मामलों को वेब-हेलरिस एप्लीकेशन के साथ जोड़ा गया है, ताकि सभी विभागों के पास जमीन संबंधी जानकारी अपडेट रहे।

ऑनलाइन फीस भरकर तहसील से मिलेगी तत्काल अपॉइंटमेंट
डिप्टी सीएम ने बताया कि अब तत्काल बुकिंग के लिए किसी को तहसील जाने की जरूरत नहीं होगी। व्यक्ति राजस्व विभाग की वेबसाइट पर बुकिंग की ऑनलाइन फीस भरकर तत्काल में अपाॅइंटमेंट की बुकिंग करवा सकता है। राज्य में शहरी क्षेत्रों में कुल 32 लाख प्राॅपर्टी है। इनमें 18 लाख प्रॉपर्टी के डाटा को पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। बाकी को 31 अक्टूबर तक एक डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: