वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा):- अब हरियाणा सरकार 50 हजार युवाओं को सरकारी नौकरियों में परीक्षाओं की तैयारी करवाने के लिए प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवा रहा है।हरियाणा ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। वर्तमान में केंद्र सरकार की नौकरियों में हरियाणा की भागीदारी केवल दो प्रतिशत है, जिसको 7-8 प्रतिशत तक ले जाने का लक्ष्य है। प्रदेश के युवाओं के इस सपने को साकार करने के लिए उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की उपस्थिति में हरियाणा के रोजगार विभाग, एमथ्रीएम फाउंडेशन तथा ग्रेडअप के मध्य एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक, रोजगार विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता के अलावा एमथ्रीएम फाउंडेशन की प्रतिनिधि पायल कनोडिया, ग्रेडअप की प्रतिनिधि ऐश्वर्या व पंकज के अलावा रोजगार विभाग के कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे। 

प्रथम चरण में 50 हजार मेधावी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन कार्यक्रम के माध्यम से ग्रुप-सी व ग्रुप-डी की नौकरियों के लिए कोचिंग दी जाएगी, जिनमें 70 प्रतिशत ग्रामीण व 30 प्रतिशत शहरी युवाओं को शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है। इस प्लेटफार्म के माध्यम से उन युवाओं को ऑनलाइन कोचिंग दी जाएगी जो हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के अंतर्गत हुई विभिन्न परीक्षाओं में प्रतिस्पर्धी रहे हैं और बहुत कम अंकों के अंतर से परीक्षा उत्तीर्ण करने से रह गए हैं।  

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: