वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

ददलाना गांव में युवती का हत्या कर उसके शव को झाड़ियों में फेंक देने के मामले में पता चला है कि पत्नी के दोस्त से तोहफे मिली पिस्टल से आरोपी साहिल ने अपनी पत्नी नैंसी की हत्या की थी..पुलिस पूछताछ में आरोपी साहिल ने बताया कि नैंसी की हत्या में उसी पिस्टल का इस्तेमाल किया था..नैंसी की हत्या करने के बाद साहिल पुलिस को गुमराह करता रहा..लेकिन 23 नवंबर को आरोपी ने मियांवाली नगर थाने में नैंसी के लापता होने की शिकायत दर्ज कराते हुए बताया था कि उसकी पत्नी कार से उतरकर कहीं चली गई थी। लेकिन अगले दिन नैंसी के पिता ने जब शिकायत कर साहिल पर ही शक जताया तो पुलिस ने हत्याकांड के रहस्य से पर्दा उठाकर नैंसी का शव गांव ददलाना गांव से बरामद किया था…पुलिस आरोपी से वारदात में इस्तेमाल पिस्टल व कार को बरामद करने का कोशिश कर रही है…वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दो-ढाई साल पहले नैंसी और साहिल की मुलाकात रोहिणी में एक बर्थडे पार्टी में हुई थी…उस समय नैंसी ईवेंट मैनेजमेंट का काम करती थी..दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई…नैंसी ने अपने परिवार को छोड़कर साहिल के साथ लिव इन रिलेशन में रहना शुरू कर दिया..7 मार्च को दोनों ने लव मैरिज कर ली..शादी होते ही दोनों के बीच तनाव शुरू हो गया था..नैंसी साहिल को छोड़कर कई-कई दिन अलग रहने लगी थी..

हत्या के बाद नैंसी की सहेलियो व परिवार ने उससे संपर्क करने का प्रयास किया तो उसका फोन बंद आने लगा..पुलिस को गुमराह करने के लिए आरोपी साहिल ने खुद 23 नवंबर को उसकी गुमशुदगी मियांवाली नगर थाने में दर्ज करा दी..24 नवंबर को जब नैंसी के पिता संजय शर्मा ने बेटी के गायब होने की शिकायत दी तो तुरंत ही एसएचओ जनकपुरी की टीम बनाकर मामले की छानबीन शुरू की..सीडीआर से पूरा मामला खुल गया..आरोपी को दबोचकर उनकी निशानदेही पर नैंसी का शव ददलाना से सड़ी-गली हालत में बरामद किया गया..

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: