वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

होली के दिन डावर कॉलोनी मे डेयरी संचालक के साथ मारपिटाई करने व उसके भतीजे पर पिस्तौल से गोली चला जांनलेवा हमला करने की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को देर साय सीआईए-वन पुलिस ने काबु करने मे कामयाबी हासिल की..आरोपियों की पहचान हिरा व चेतन निवासी देशराज कॉलोनी पानीपत के रूप मे हुई…वारदात मे सलिप्त इनके अन्य साथियों के ठिकानों का पता लगाने व वारदात मे प्रयोग लाठी डंडे व देशी पिस्तौल बरामद करने के लिए गिरफतार दोनों आरोपियों को आज माननीय न्यायालय मे पेश कर एक दिन का पुलिस रिमांड लिया गया….

सीआईए-वन प्रभारी इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि होली के दिन थाना किला क्षेत्र के अंतर्गत डाबर कालोनी मे हिरा व चेतन निवासी देशराज कालोनी पानीपत अपने कई अन्य साथियो के साथ मिलकर डेयरी संचालक सोमदत व उसके भतीजे बलराम के साथ कहासुनी के बाद मारपिटाई व बलराम के पैर मे पिस्तौल से गोली मारकर जानलेवा हमला करने की वारदात को अंजाम दे मौके से फरार हो गए थे। वारदात बारे आरोपियों के खिलाफ थाना किला मे डैयरी संचालक सोमदत निवासी डावर कॉलोनी पानीपत की शिकायत पर मारपिटाई व जानलेवा हमला करने की विभिन्न धाराओं के तहत अभियोग अंकित है। पुलिस को दी शिकायत मे सोमदत ने बताया था की उसकी भैसों की डेयरी है। वह होली पर्व पर अपने दोस्त विजेन्द्र व श्रवण निवासी डावर कॉलोनी के साथ मकान के पिछे प्लाट मे बैठा हुआ था। बाद दोपहर करीब ढाई बजै हिरा नाम का युवक उनके पास आया और गाली गलौच करने लगा। उसने हिरा को वहा से जाने को कहा वह चला गया। कुछ देर बाद हिरा अपने साथी चेतन, सोहन, अयुब व अन्य कई साथियों के वापिस आया सोहन ने हाथ मे पिस्तौल ली हुई थी और अन्य सभी ने लाठी डंडे लिए हुए थे। आरोपियो ने आते ही उसके साथ फिर से झगड़ा शुरू कर दिया जो झगड़े की आवाज सुनकर उसका भतीजा बलराम आ गया। आरोपी सोहन से जांन से मारने की नियत से बलराम पर पिस्तौल से कई फायर कियो जो एक गोली बलराम के पैर मे लगी और अन्य आरोपियो ने लाठी डंडो से उसकी पिटाई की। मौके पर भीड़ इक्कठी होते देख सभी आरोपी जान के मारने की धमकी देते हुए हथियार सहित मौके से फरार हो गए…परिजन बलराम को इलाज के लिए सिविल अस्पताल लेकर गए जहा से हालत गंम्भीर देखते हुए डॉक्टरो ने पीजीआई खानपुर रैफर कर दिया।

इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि यह मामला पुलिस अधीक्षक मनीषा चौधरी के संज्ञान मे आते ही उन्होने आरोपियों को जल्द से जल्द काबु करने की जिम्मेवारी सीआईए-वन पुलिस टीम को सोपी थी…सीआईए-वन की एक टीम एएसआई सतीश कुमार के नेत्रत्व मे आरोपियों को काबु करने के लिए लगातार उनके संभावित ठिकानो पर दंबिस दे रही थी…टीम को शुक्रवार साय गुप्त सूचना मिली की आरोपी हिरा व चेतन बरसत रोड़ भैसवाल चोक के पास घुम रहे है जो दोनो पानीपत से भागने की फिराक मे है। इस विशेष सूचना के आधार टीम ने तुरंत मोके पर दंबिस दे दोनो आरोपियों को काबु किया। प्रारंम्भिक पुलिस पुछताछ मे आरोपी हिरा ने बताया की वह होली के दिन डावर कॉलोनी मे सोमदत की डैयरी के पास गया तो सौमदत ने उसको धमकाते हुए वहा से भगा दिया था। सौमदत को इस बात का सबक सिखाने के लिए वह कुछ देर बाद चेतन व अन्य कई साथियों को साथ लेकर सौमदत के पास गया। लाठी डंडे से सोमदत पर प्रहार किये इसी दोराना सोमदत का भतीजा बलराम बिच मे आ गया। जो पिस्तौल से फायर किया तो गोली बलराम के पैर मे जाकर लगी। भीड़ इक्कठी होती देख वह सभी वारदात को अंजाम दे मोके से फरार हो गए थे।

इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि वारदात मे शामिल इनके अन्य साथियों के ठिकानों का पता लगाने व वारदात मे प्रयोग किये लाठी डंडे व देशी पिस्तौल बरामद करने के लिए गिरफतार दोनों आरोपियों को आज माननीय न्यायालय मे पेश कर एक दिन का पुलिस रिमांड लिया गया।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: