वायस ऑफ पानीपत (देवेंद्र शर्मा)

अंबा कॉलोनी व विद्यानंद कॉलोनी के बीच से होकर गुजरने वाली पीर वाली गली में एक युवक की 11 हजारी केवी की तारों की चपेट में आने से मौत हो गई। दोस्तों ने बताया कि वह वीरवार शाम को क्रिकेट खेल रहे थे। इसी बीच उनकी गेंद एक पेड़ पर जाकर फंस गई। जिसकों निकालने के लिए 19 वर्षीय युवक गया। वह पेड़ पर चढ़कर गेंद उतार ही रहा था कि उपर से गुजर रही 11 हजारी केवी की चपेट में आ गया। युवक 10 सेकेंड तक तारों पर झुलता रहा और धमाके के साथ नीचे गिरा। वह युवक को सनौली रोड स्थित एक निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे, जहां उसे मृत घोषित कर दिया।

उझा रोड स्थित नलवा कॉलोनी निवासी नरेश कुमार ने बताया कि उसके पांच बच्चे है। जिनमें चार बेटे व एक बेटी है। उसका एक बेटा अरविंद (19) विद्यानंद कॉलोनी में जीएस हैंडलूम में नौकरी करता था। इसके साथ साथ वह अपने चाचा के साथ भी खेतों में काम करता था। वीरवार को वह छुट्टी पर था और शाम छह बजे अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था। उसी समय गेंद एक पेड़ में जाकर फंस गई। जिसको निकालने के लिए वह पेड़ पर चढ़ गया। उन्होंने बताया कि इसी पेड़ के उपर से एक 11 हजारी हाइवोल्टेज की तारे गुजर रही थी। गेंद और तार के बीच मात्र दो मीटर का फांसला था। जब अरविंद ने उतारने के लिए गेंद की तरफ हाथ बढ़ाया तो तारों ने युवक को अपनी तरफ खींच लिया। वह 10 सेंकेड तक तारों की चपेट में रहा और तेजधार धमाके के साथ पेड़ से करीब 10 मीटर दूर फैंका। इससे आस पास के क्षेत्र में हडकंप मच गया। वहीं सूचना मिलते ही वह मौक पर पहुंचे और उसे उठाकर एक निजी अस्पताल में पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं परिजनों ने सामान्य अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया।
TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: