वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह)

कोरोना महामारी के कारण 30 जून तक कॉलेज बंद पड़े हुए हैं। विद्यार्थी घरों में सुरक्षित रहें, इसके लिए उच्चतर शिक्षा विभाग हरियाणा ने पत्र जारी करते हुए विश्वविद्यालयों व कॉलेज में केवल फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा लेने का फैसला लिया है।
फाइनल ईयर की परीक्षा आयोजित कराने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइज का विशेष ध्यान रखा जाएगा। 1 जुलाई से 31 जुलाई तक परीक्षा होगी जिनका परिणाम सात अगस्त को घोषित किया जाएगा। लेकिन अभी परीक्षाओं को लेकर गाइडलाइन व डेटशीट आना बाकी है। परीक्षा के समय हॉस्टल बंद रहेंगे। हरियाणा से बाहर के रहने वाले विद्यार्थियों को भी परीक्षाओं में ग्रेड देकर पास किया जाएगा। यदि किसी विद्यार्थी को इंप्रूवमेंट परीक्षा देनी है वे बाद में परीक्षा दे सकेगा। जबकि कॉलेज में फर्स्ट व सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा दिए अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। प्रमोट में दूसरे व चौथे सेमेस्टर के विद्यार्थियों को 50 प्रतिशत अंक असेसमेंट व 50 प्रतिशत अंक पिछले नंबर के एवरेज के हिसाब से दिए जाएंगे।

जिन विद्यार्थियाें की पहले सेमेस्टरों में कंपार्टमेंट है, उन विद्यार्थियों को अगले सेमेस्टर के लिए प्रमोट किया जाएगा। उनके बाद परीक्षा होगी। जबकि फस्ट ईयर के विद्यार्थियों को इंटरनल असेसमेंट के बेस पर अगली कक्षा के लिए प्रमोट कर दिया जाएगा। इस बार कोई प्रैक्टिकल परीक्षा नहीं होगी। एवरेज के हिसाब से नंबर दिए जाएंगे जो पहले वाले प्रैक्टिकल के बेस पर होंगे या 80 प्रतिशत एवरेज पहले सेमेस्टरों की है या फिर प्रैक्टिकल में नंबर लिए हैं तो प्रमोट करेंगे। उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से आदेश हैं कि केवल फाइनल ईयर के विद्यार्थियों की परीक्षा आयोजित करने का फैसला लिया है। जबकि कॉलेज में फर्स्ट व सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा दिए अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा।


अगले 10 दिन में यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं आयोजित कराने व यूनिवर्सिटी खोलने के लिए सरकार को इसकी रिपोर्ट देनी होगी। इसके लिए विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर कॉलेज के प्रिंसिपलों व अभिभावकों से बातचीत कर राज्य सरकार को इसकी रिपोर्ट बनाकर देंगे। जबकि नए सत्र के एडमिशन यूनिवर्सिटी अपने स्तर पर करेगी। पीजी व यूजी के कॉलेजाें में एडमिशन पहले की तरह ऑनलाइन होंगे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: