वायस ऑफ़ पानीपत कुलवन्त सिंह :-सोनीपत लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली बरोदा विधानसभा उपचुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन की कवायद तेज हो गई है। खासकर भारतीय जनता पार्टी  और कांग्रेस में टिकट के लिए मारामारी मची हुई है। इस बीच टिकट कटने की सूचना मिलते ही पहलवान योगेश्वर दत्त अपने अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के साथ नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन पहुंचे हैं। योगेश्वर दत्त का नाम भाजपा के पैनल में सोनीपत के सांसद रमेश कौशिक ने जुड़वाया था। इसके बाद से ही यह माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी बरोदा में जाट उम्मीदवार को ही उतारेगी। ऐसे में पहलवान योगेश्वर दत्त को बरोदा सीट से भारतीय जनता पार्टी की ओर से सबसे बड़ा और मजबूत दावेदार माना जा रहा है। 

बरोदा क्षेत्र पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का गढ़ माना जाता है। 2019 के विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी योगेश्वर दत्त चुनाव भले ही हार गए लेकिन उन्होंने बतौर भाजपा प्रत्याशी बेहतर प्रदर्शन करते हुए 37726 वोट पाकर दूसरे स्थान पर रहे थे। पहली बार भाजपा को बरोदा विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशी को इतने अधिक वोट मिले थे। 2014 के चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी बलजीत मलिक लगभग दस हजार वोटों पर ही सिमट गए थे। ऐसे में बरोदा उपचुनाव में पहलवान योगेश्वर दत्त को सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा है। कहा जा रहा है कि अगर कोई पेच नहीं फंसा तो इस सीट से योगेश्वर को टिकट मिलना तय है। जाट बहुल सीट पर योगेश्वर कड़ी देने के साथ यह सीट भाजपा की झोली में भी डाल सकते हैं। 

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: