वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- बोर्ड कॉलाेनी स्थित गीता विद्या मंदिर स्कूल ने लाॅकडाउन से पहले 150 गरीब व असहाय बच्चों का स्कोलरशिप टेस्ट लिया था। उन्हीं मे से कुछ छात्र- छात्रओं अभिभावकों का इंटरव्यू लेकर विद्यार्थियों के आनलाइन का पूरा खर्चा गीता ग्रुप तथा लक्की बुक के मैनिजिंग डायरेक्टर मनीष भाटिया ने उठाया। गरीब व असहाय बच्चों को आनलाइन शिक्षण देने का उद्देश्य आर्थिक रूप से असक्षम प्रतिभाशाली बच्चों को अच्छी पढाई का अवसर देना था। गीता चैरीटेबल ट्रस्ट के दवारा हर साल गरीब व प्रतिभाशाली बच्चों का स्कोलरशिप टेस्ट लिया जाएगा। और उनमे से 20 छात्रों को निशुल्क शिक्षण दिया जाएगा, कोविड 19 महामारी के कारण विद्यार्थियों का चयन तनिक विलम से हुआ। परंतु अब विद्यार्थियों ने कक्षा 6 मे अपना आनलाइन शिक्षण आरंभ कर दिया है।

विद्यार्थियो के शिक्षण का पूरा भार गीता ग्रुप ने लिया है व विद्यार्थियों की किताबों, काॅपियों व स्कूल यूनिफोर्म का पूरा खर्च लक्की बुक डिप्पों के मैनेजिंग डायरेक्टर दवारा उठाया गया है। मनीष भाटिया ने इस टेस्ट की प्रशंसा की उन्होने बताया कि अच्छी ऐजुकेशन से होनहार से छात्र छात्रओ को अपने अंदर छिपे हुए गुणों को उच्चाईयाें के मुकाम पर ले जाने का अवसर दिया जाता है।

विद्यालय के चैयरमैन एसपी बंसल ने भी प्रवेश प्राप्त करने वाले विद्यार्थियो को बधाई दी। उन्होने बताया कि जो बच्चे भविष्य में अच्छे इंजीनियर, डाॅक्टर, अध्यापक व किसी भी क्षेत्र में उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते है उनकी संर्पूण शिक्षा की जिम्मेदारी गीता ग्रुप लेगा। गीता विद्या मंदिर स्कूल की प्रधानाचार्या ने भी विद्यार्थियों की प्रशंसा की। उन्होने बताया कि विद्यार्थियों के उच्च शिक्षा प्राप्त करने के सपने को साकार करने मे गीता विद्या मंदिर पूरा सहयोग करेगे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: