वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- पाईट कॉलेज लॉक डाउन के पहले दिन से ही अपने विद्यार्थियों के लिए हर तरह की ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध करा रहा है। चाहे रेगुलर पढ़ाई हो या किसी अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का अवसर, हर तरह के कार्यक्रम को ऑनलाइन माध्यम से विद्यार्थियों के समक्ष रख रहा है। हिंदी दिवस के अवसर पर इस वर्ष भी पहले की तरह काव्य प्रस्तुति, भाषण प्रतियोगिता और चित्र कला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ शक्ति कुमार, निदेशक, डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ बी बी शर्मा, अतुल गौतम ने अलग-अलग प्रतियोगिताओ में विद्यार्थियों की प्रतिभा को परखा। कार्यक्रम का आयोजन मैनेजमेंट विभाग की मैडम स्मृति और प्रीति द्वारा किया गया, वही बीबीए के श्रुति, कनिका और मंदीप ने भी कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए अपने शिक्षकों का साथ दिया। डॉ शक्ति कुमार ने सभी विद्यार्थियों को हिंदी दिवस के अवसर पर बधाई दी।

उन्होंने हिंदी दिवस के मनाए जाने के लिए इतिहास की जानकारी देते हुए बताया कि हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है। 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है। एक तथ्य यह भी है कि 14 सितम्बर 1949 को हिन्दी के पुरोधा व्यौहार राजेन्द्र सिंहा का 50-वां जन्मदिन था, जिन्होंने हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए बहुत लंबा संघर्ष किया । कार्यक्रम में अलग अलग तरह की प्रतियोगिताओ  में विद्यार्थियों की कला का प्रदर्शन वाक्य ही सराहनीय था। भाषण प्रतियोगिता में बीबीए की रिया गर्ग ने पहला स्थान हासिल किया गया। कविता प्रतिस्पर्धा में मयंक कटारिया ने बाजी मारी तो पोस्टर मेकिंग में युक्ता बंसल प्रथम रही। मेंबर सेक्रेटरी सुरेश तायल और शुभम तायल ने सभी विजेताओं को बधाई दी। उन्हें ऑनलाइन सर्टिफिकेट देकर पुस्कृत किया। कॉलेज आने पर उन्हें ट्रॉफी भी दी जाएगी। सुरेश तायल ने विद्यार्थियों को भरोसा दिलाया कि जल्द ही सभी चीजे पटरी पर लौट आएंगी और कॉलेज में विद्यार्थी पहले की तरह क्लास लगा सकेंगे। विभागाध्यक्ष अतुल गौतम ने अपने विभाग के सभी शिक्षकों का धन्यवाद किया जिन्होंने इस कार्यक्रम को इतने कम समय में संयोजित किया।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: