वायस ऑफ़ पानीपत कुलवन्त सिंह :-आधे से अधिक हरियाणा में प्रदूषण को लेकर हालात अधिक अच्छे नहीं है। जिसमें से 9 जिले ऐसे हैं जहां पीएम 2.5और पीएम 10 की स्थिति सबसे खराब हालत हैं। इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी में बने डिप्रेशन से नमी भरी हवाएं हरियाणा की तरफ आ रही हैं जो वातावरण में पराली के धुंए के साथ मिलकर स्मॉग की स्थिति बन रही है। यही कारण है कि कई शहरों में सुबह के समय टहलने वालों की हालत खराब है।बुधवार को यमुनानगर, पानीपत, हिसार, कैथल, जींद, रोहतक, बहादुरगढ़ आदि स्थानों पर एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 से कई अधिक है। यह हाला पिछले दो दिनों से प्रदेश में बन रहे हैं। इसमें कहीं पराली तो कहीं वाहनों, फैक्ट्रियों, टायरों से निकलने वाला धुंआ भी शामिल है।

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खीचड़ ने बताया कि राज्य में 19 अक्टूबर तक मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील है। बीच बीच में आंशिक बादल आने की संभावना है। इस दौरान बंगाल की खाड़ी की तरफ से पूर्वी हवाएं चलने से वातावरण में नमी अधिक रहने, दिन के तापमान में गिरावट व रात्रि तापमान में हल्की बढ़ोतरी संभावित है। यही कारण है प्रदेश में लगभग हर जिला में न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: