वायस ऑफ़ पानीपत (देवेंद्र):- अनलॉक-5 में सरकार ने वीजा पाबंदियों में बड़ी राहत दी है। सरकार ने ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया और पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजिन कार्डधारकों को वीजा देने की मंजूरी दी है। गृह मंत्रालय ने बताया कि इनके अलावा विदेशी छात्र और कारोबारियों को भी भारत आने के लिए वीजा जारी किया जाएगा। हालांकि, सरकार ने टूरिस्ट वीजा पर पाबंदी बरकरार रखी है।गृह मंत्रालय के ताजा निर्देशों के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक वीजा, टूरिस्ट वीजा और मेडिकल वीजा के अलावा सभी तरह के मौजूदा वीजा को तत्काल प्रभाव से बहाल कर दिया गया है।चिकित्सा उपचार के लिए भारत आने के इच्छुक विदेशी नागरिक मेडिकल वीजा के लिए मेडिकल अटेंडेंट सहित आवेदन कर सकते हैं.हालांकि ऐसे सभी यात्रियों को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन करना होगा।एमएचए ने यह भी कहा है कि अगर ऐसे वीजा की वैधता समाप्त हो गई है, तो उपयुक्त श्रेणियों के नए वीजा भारतीय मिशन / डाक से प्राप्त किए जा सकते हैं।बता दें कि COVID-19 महामारी के मद्देनजर, भारत सरकार ने फरवरी, 2020 से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के आने, जाने पर रोक लगा थी।

क्या है OCI और PIO कार्ड
विदेश में बसे और वहां की नागरिकता ले चुके भारतीय लोगों के लिए ओसीआई कार्ड जारी किया जाता है. भारतीय गृह मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, ओसीआई कार्ड के धारकों के पास भारतीय नागरिकों की तरह सभी अधिकार हैं लेकिन वे लोग चुनाव नहीं लड़ सकते, वोट नहीं डाल सकते, सरकारी नौकरी या संवैधानिक पद पर नहीं हो सकते. इसके अलावा खेती वाली ज़मीन नहीं ख़रीद सकते. ओसीआई एक तरह से भारत में जीवन भर रहने, काम करने और सभी तरह के आर्थिक लेन-देन करने की सुविधा देता है. पीआईओ का मतलब है पर्सन ऑफ़ इंडियन ओरिजिन, यह कार्ड पासपोर्ट की ही तरह दस साल के लिए जारी किया जाता है.

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: