वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- अंबाला की दबंग IAS अफसर प्रीति पर कुछ ट्रांसपोटर्स और ट्रक चालक ने जानलेवा हमला कर दिया।  इन हमलावरों ने आरटीए विभाग की सरकारी गाड़ी को क्षति पहुंचाई और आरटीए विभाग की सरकारी गाड़ी को सड़क से नीचे गिरा दिया। आरटीए की टीम अंबाला-कालाअंब (हिमाचल) नेशनल हाइवे पर पहुंची थी, तभी पंजोखरा के पास आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया।

कुछ दिनों पहले की दबंग आईएएस आफिसर प्रीति ने अवैध वाहनों के अंबाला ट्रांसपोटर्स गिरोह (टाइगर जिंदा है) का पर्दाफाश किया था। अब इन बदमाशों ने बदला लिया और अफसर के साथ पूरी टीम पर हमला किया। जिसमें आईएएस अधिकारी बाल बाल बच गई, लेकिन उनके विभाग के स्टाफ पर हमला किया, जिसमें उसका ड्राइवर व अन्य कर्मचारी घायल हो गए। मामला हरियाणा-पंजाब सीमा का होने के कारण काफी समय तक दोनों राज्यों की पुलिस के बीच मामला दर्ज करने को लेकर बातचीत चलती रही। आखिर में हरियाणा पुलिस ने आरटीए विभाग के अधिकारियों की शिकायत के आधार पर हत्या का प्रयास, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने सहित कई अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

मामले की जानकारी देते हुए अंबाला में एडीसी एवं आरटीए प्रीति ने बताया कि आरटीए विभाग आज दोपहर से ही चैकिंग पर था। कई गाडियां इस दौरान इम्पाउंड की गई थी और उसी कार्रवाई के दौरान विभाग आगे की तरफ बढ़ा और ओवर लोडिड वाहन देखे तो उनका पीछा करके उन्हें रोकने की कौशिश की गई। इस दौरान ओवर लोडिड वाहन पंजाब की सीमा में दाखिल हो गए और पंजाब बॉर्डर के करीब 100 मीटर से जब आरटीए की टीम वापस हरियाणा की तरफ मुड़ी तो ट्रांसपोटर्स अपने निजी वाहनों में आकर हमारी सरकारी गाड़ियों को घेर लिया। इस दौरान हमलावरों ने पत्थराव व लाठी डंडों से आरटीए विभाग के सरकारी वाहन को बुरी तरह क्षति पहुंचाई। एडीसी के अनुसार उनके पास वहां पर पैट्रोल के कैन भी मौजूद थे। इस हमले में एडीसी का एक ड्राइवर व गनमैन को भी चोट पहुंची है। एडीसी की माने तो इस हमले में 50 से 60 लोग शामिल थे, जिसमें कुछ की शिनाख्त भी हो गई है।एडीसी एवं आरटीए प्रीति ने कहा कि हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया।

वहीं उन्होंने कहा कि मौके पर मौजूद लोगों ने आरटीए अंबाला दोबारा किसी चालान करने पर उतरता है तो उसे जान से मार दिया जाएगा। यह सोची समझी साजिश के तहत हमला किया गया है, क्योंकि सुबह से टीम चालान कर रही थी और वह सुबह से टीम पर पूरी निगाहें रखे हुए थे। करीब 10-11 लोगों के चालान भी किए गए हैं।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: