वायस ऑफ़ पानीपत कुलवन्त सिंह :- हरियाणा की बरोदा विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए कांग्रेस आज नामांकन पत्र दाखिल करने के अंतिम दिन की सुबह अपने उम्मीदवार का ऐलान कर दिया। कांग्रेस टिकट के चयन के लिए पार्टी में बीती रात करीब दो बजे तक सियासी ड्रामा चलता रहा। इसमें पूर्व सीएम भूपेंद्र सिह हुड्डा पर हरियाणा कांग्रेस अध्‍यक्ष कुमारी सैलजा भारी पड़ीं। बताते हैं कि हुड्डा की तमाम कोशिशों के बावजूद उनके पसंदीदा माने जा रहे कपूर नरवाल को कांग्रेस टिकट नहीं मिला। कांग्रेस ने इंदुराज नरवाल को अपना प्रत्‍याशी घोषित किया है।

असल में बरोदा हल्के को अपना गढ़ बताने वाले पूर्व सीएम और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा चाहते थे कि इस सीट पर कपूर नरवाल को टिकट दे दिया जाए। कपूर नरवाल ने 2009 व 2014 का चुनाव इनेलो के टिकट पर लड़ा और 2019 में वह जजपा में थे। इस समय कपूर नरवाल भाजपा में हैं और टिकट के  उनके कांग्रेस में शामिल होने की बात कही जा रही थी।बताया जाता है कि कपूर नरवाल के नाम का कांग्रेसियों ने विरोध किया।शुक्रवार सुबह इंदुराज नरवाल का नाम फाइनल किया गया। इंदुराज नरवाल को आज नामांकन दाखिल करेंगे। भूपेंद्र सिंह हुड्डा कार्यकर्ताओं के साथ खुद इंदुराज का नामांकन भरवाने बरोदा पहुंचेंगे।सैलजा का विरोध का वि कि पार्टी काडर के कार्यकर्ताओं को टिकट न देकर दूसरी पार्टी के नेता को टिकट देकर कांग्रेस जीतने से पहले हार जाएगी। इन दोनों नेताओं के तर्काें से जूझते प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल को गुरुवार रात 11 बजे तब राहत मिली जब भाजपा ने पहलवान योगेश्वर दत्त को टिकट थमा दिया।

असल में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा के बीच प्रत्याशी चयन को लेकर अंतर्विरोध गुरुवार देर रात तक बना रहा। हुड्डा भाजपा में टिकट से वंचित कपूर नरवाल को टिकट देने पर अड़े रहे जबकि सैलजा का कहना था कि इससे पार्टी संगठन में प्रतिकूल संदेश जाएगा। कार्यकर्ताओं और नेताओं में यह संदेश जाएगा कि पार्टी के पास अपने सबसे सशक्त नेता के गढ़ में भी मजबूत उम्मीदवार नहीं था।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: