वायस ऑफ पानीपत (कुलवन्त सिंह):- दो गैंग के 4 आरोपियों को नशे की लत पूरी करने के लिए रुपए की जरूरत पड़ी तो वे बाइक चोर बन गए।  आरोपितों की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी हुई 11 बाइकें बरामद कीे। मुखबिर की सूचना पर सीआईए-2 ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपितों की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी हुई 11 बाइकें बरामद कीे। शुक्रवार को रिमांड अवधि खत्म होने पर पुलिस ने आरोपितों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया।

सीआइए टू प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि उनकी एक विशेष टीम जीटी रोड पर गश्त कर रही थी। तभी बीबीएमबी कट के पास किसी संदिग्ध के घूमने की सूचना मिली। टीम ने दबिश देकर संदिग्ध से पूछताछ की तो उसने 20 सितंबर को सेक्टर 29 पार्ट-2 स्थित रिवेरा फैक्ट्री की पार्किंग से बाइक चोरी करने का राज खोला। आरोपित ने अपनी पहचान अरूण निवासी नंगला बागपत, उप्र के रूप में दी। आरोपित ने अपने अन्य साथी बिजेंद्र निवासी सिरसी करनाल के साथ मिलकर बाइक चोरी की नौ वारदातों को अंजाम देने की बात स्वीकारी। पुलिस ने आरोपित को बुधवार को अदालत में पेश कर तीन दिनों के पुलिस रिमांड पर लिया। आरोपित की निशानदेही पर टीम ने बिजेंद्र को भी काबू किया। अरूण की निशानदेही पर विकास नगर में किराए पर लिए कमरे से पांच और विजेंद्र की निशानदेही पर एनएफएल के पास खाली प्लाट में राखी कुंड से चोरी हुई चार बाइकें बरामद की।आरोपी राममेहर व बिजेंद्र के खिलाफ पहले भी केस दर्ज हैं। दोेनों आरोपी जेल में रह चुके हैं। जमानत पर आकर वारदात करने लगे थे।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: